लगातार बढ़ रहे मामलों ने चिंता बढ़ाई, आज मिले 3848

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ थमने का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार को राज्य में 3848 नए मरीज मिले और दो संक्रमितों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में कुल मरीजों की संख्या तीन लाख 67 हजार से अधिक हो गई है। जबकि मरने वालों का आंकड़ा 7440 पहुंच गया है। राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या भी बढ़कर 14 हजार 892 हो गई है।
स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, शनिवार को देहरादून में 1362, नैनीताल में 719, हरिद्वार में 641, यूएस नगर में 412, अल्मोड़ा में 128, बागेश्वर में 75, चमोली में 63, चम्पावत में 67, पौड़ी में 168, पिथौरागढ़ में 50, रुद्रप्रयाग में 26, टिहरी में 109 और उत्तरकाशी में 28 नए मरीज मिले हैं। यूएस नगर और नैनीताल जिले के अस्पतालों में एक एक संक्रमित मरीजों की मौत हो गई है।
राज्य भर के अस्पतालों और होम आईसोलेशन से कुल 1184 मरीजों को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया गया जिससे एक्टिव मरीजों का आंकड़ा 14892 हो गया है। शनिवार को विभिन्न लैब से कुल 27135 सैंपलों की रिपोर्ट आई जबकि 30 हजार से अधिक सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। राज्य में कोरोना संक्रमण की दर 12.42 प्रतिशत जबकि मरीजों के ठीक होने की दर 92 प्रतिशत से कम रह गई है। राजधानी देहरादून में छह हजार से अधिक एक्टिव मरीज हो गए हैं।

सीएमएस, एसपी देहात समेत 297 पॉजिटिव
रुड़की में कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़ रहा है। अकेले रुड़की में ही 237 मरीज मिले हैं। आसपास क्षेत्र में मिलाकर आंकड़ा 297 पहुंच गया। सिविल अस्पताल के सीएमएस, एसपी देहात भी संक्रमण की चपेट में आए हैं। कोरोना की दूसरी लहर के बाद अब फिर से बढ़ते आंकड़े लोगों को डराने लगे हैं। शनिवार को जारी स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार रुड़की में 237 मरीज मिले हैं।
सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ. संजय कंसल सहित अस्पताल के आठ कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। एसपी देहात परमेंद्र डोबाल और उनके साथ तैनात एक पुलिस कर्मी भी संक्रमण की चपेट में आए हैं। एक प्राइवेट इंजीनियरिंग कालेज में 19 छात्र और कर्मचारियों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई हे। डायट में तैनात पांच कर्मी भी कोरोना संक्रमित हुए है।

ऋषिकेश में कोरोना के 59 नए मामले आए
सरकारी अस्पताल ऋषिकेश में 252 लोगों ने आरटीपीसीआर जांच करायी थी, जिसमें 59 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य पर्यवेक्षक एसएस यादव ने बताया कि शुक्रवार को आरटीपीसीआर सैंपल एम्स ऋषिकेश भेजे गए थे, जिनकी रिपोर्ट शनिवार को मिली है। बताया कि 59 संक्रमितों में 49 को कोरोना किट उपलब्ध करा दी है। सभी को 10 दिन होमआइसोलेशन में रखा गया है।

कोरोना जांच को बढ़ने लगी भीड़
ऋषिकेश के सरकारी अस्पताल में कोरोना जांच कराने वालों की भीड़ बढ़ने लगी है। मामूली खांसी जुकाम वाले भी जांच के लिए आ रहे हैं। लैब टैक्निशियन भूपेंद्र फर्सवाण ने बताया कि पिछले तीन दिन से जांच कराने वालों का आंकड़ा 250 के पार जा रहा है। शनिवार को भी 275 लोगों ने आरटीपीसीआर कराया। ओमीक्रोन के बढ़ते खतरे को लेकर लोग जागरूक हो रहे हैं।

पिछले 24 घंटे में 3200 नए मामले सामने आए

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। शुक्रवार को राज्य में 3200 नए मामले सामने आए हैं। अब तक कुल 7438 मरीजों की मौतें हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में 676 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इन्हें मिलाकर 336353 मरीजों ने संक्रमण को मात दी है। वर्तमान में 12349 सक्रिय मरीजों का इलाज चल रहा है। प्रदेश की रिकवरी दर 92.55 प्रतिशत और सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण दर 11.48 प्रतिशत पहुंच गई है।
देहरादून जिले में 1030 संक्रमित मिले हैं। नैनीताल में 494, हरिद्वार में 543, ऊधमसिंह नगर में 429, चंपावत में 46, पौड़ी में 131, अल्मोड़ा में 165, टिहरी में 112, पिथौरागढ़ में 58, बागेश्वर में 38, चमोली में 40, रुद्रप्रयाग में 52, उत्तरकाशी जिले में 62 संक्रमित मिले हैं।

तीर्थनगरी में भी बढ़ रहा ग्राफ
ऋषिकेश, लक्ष्मणझूला और मुनिकीरेती में शुक्रवार को भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। जिनमें ऋषिकेश 45, लक्ष्मणझूला में सात पर्यटक समेत 11, मुनिकीरेती में नौ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
ऋषिनगरी में नए साल के बाद लगातार कोरोना के आंकड़ों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को भी करीब 65 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ऋषिकेश सरकारी अस्पताल में स्वास्थ्य पर्यवेक्षक एसएस यादव ने बताया 45 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में 20 ऋषिकेश के रहने वाले हैं। जबकि अन्य मरीज छिद्दरवाला, रूद्रप्रयाग आदि क्षेत्र के हैं। बताया कि मरीजों को आइसोलेट कराया जा रहा है। लक्ष्मणझूला में कोविड नोडल अधिकारी डा.राजीव कुमार ने बताया की शुक्रवार को सात पर्यटकों समेत 11 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पर्यटक वापस घर लौट चुक हैं। लिहाजा संबंधित जिला प्रशासन से संपर्क कर जानकारी जुटाई जा रही है। बताया चार लोग स्थानीय निवासी है। जिन्हें आइसोलेट किया गया है। मुनिकीरेती कोविड नोडल अधिकारी डा. जगदीश जोशी ने बताया कि नौ लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है।

कोरोना से बचाव और सुरक्षा को लेकर सीएम ने दिए निर्देश

चुनाव अधिसूचना जारी होने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर धामी के निजी दौरे से हल्द्वानी पहुंचे। उन्होंने कोरोना की गाइड लाइन के बीच आम जनता के स्वास्थ्य व सुरक्षा के दृष्टिगत आवश्यक जानकारी भी ली। निजी दौरे पर आए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इसी क्रम में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर हल्द्वानी के सुशीला तिवारी हॉस्पिटल में मरीज़ों से अस्पताल की व्यवस्थाओं की जानकारी लेने के साथ मरीज़ों के तिमारदारों से भी बात की। उन्होने वहाँ मौजूद लोगों से कोरोना व अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं और दवाइयों की उपलब्धता के बारे में भी जानकारी हासिल की। मुख्यमंत्री धामी ने जन औषद्धि केंद्र का निरीक्षण कर जनता को सस्ते दामों में मिल रही दवाइयों की जानकारी भी ली। सुशीला तिवारी हॉस्पिटल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने मुख्यमंत्री को जनपद स्तर पर चल रही स्वास्थ्य सेवाओ की जानकारी भी दी। उन्होने कोविड के खतरों को लेकर आम जनता के स्वास्थ्य सुविधाओं की और विशेष ध्यान देने को भी कहा।
सीएम धामी ने अस्पताल के बाहर सपजजसम उपतंबसमे विनदकंजपवद के द्वारा आम मरीजों व तीमारदारों के लिए 5 रुपये में भोजन सुविधा सेवा में शामिल हुए और इस सेवा कार्यक्रम के संचालन को बारीकी से समझा। इस दौरान मकर संक्रांति के उत्सव पर बनी विशेष खिचड़ी भी ग्रहण करने के साथ प्रदेश की समस्त जनता व उपस्थित जनता को मकर संक्रांति के उत्सव की भी बधाई दी। इसके उपरांत निजी दौरे पर आए प्रदेश के मुख्यमंत्री ने डीआरडीओ द्धारा संचालित कोविड अस्पताल पहुँच कर वहाँ व्यवस्थाओं की जानकारी भी ली। इस दौरान उन्होने अस्पताल में मौजूद सीसीटीवी कैमरों से संस्थान में चल रहे स्वास्थ्य सुविधाओं को भी देखा। विदित हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 दिन पूर्व कोरोना से संबंधित मामलों को लेकर देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ इस दिशा में वर्चुअल बैठक की थी। वही सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को इस महामारी के खतरे से निपटने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन देने के साथ घबराने की नहीं बल्कि सतर्कता बरतने पर विशेष ध्यान देने पर जोर दिया था।

कोरोना से बचाव के लिए मुनिकीरेती पालिका ने क्षेत्र को किया सेनेटाइज

कोरोना संक्रमण (ओमीक्रान) के लगातार बढ़ रहे मामलों के दृष्टिगत नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती-ढालवाला बचाव एवं सुरक्षा कार्यों में लगी है। इसके तहत बृहस्पतिवार को पालिका क्षेत्र में वृहद स्तर पर सेनेटाइजिंग अभियान चलाया गया।
अधिशासी अधिकारी तनवीर मारवाह के निर्देश व सफाई निरीक्षक भूपेंद्र सिंह पंवार के नेतृत्व में लक्ष्मणझूला रोड स्थित मधुबन चौक, कैलाश गेट और स्वामीनाराण गेट आदि स्थानों पर टैंकर की सहायता से सेनेटाइजर का छिड़काव किया गया। साथ ही वार्डों में हाथ की मशीन की सहायता से सेनेटाइजर का छिड़काव किया गया।
सफाई निरीक्षक भूपेंद्र सिंह पंवार ने बताया कि कोविड-19 से क्षेत्रवासियों के बचाव एवं सुरक्षा हेतु प्रतिदिन सेनेटाइजिंग अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान सफाई निरीक्षक ने क्षेत्र के लोगों से कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव हेतु सरकार की ओर से दिए गए निर्देशों का पालन करने व घरों से बाहर निकलने के दौरान मास्क का प्रयोग और हाथों को सेनेटाइज करते रहने की अपील की।

देहरादून जिले में सबसे अधिक 1224 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 3005 नए संक्रमित मिले हैं। वहीं दो कोरोना मरीजों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटे में 977 मरीज स्वस्थ हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक गुरुवार को 13 जिलों में 3005 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। अब तक कुल 7435 मरीजों की मौतें हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में 977 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इन्हें मिलाकर 335677 मरीजों ने संक्रमण को मात दी है। संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वालों की संख्या घटने से सक्रिय मामले बढ़ गए हैं। वर्तमान में 9936 सक्रिय मरीजों का इलाज चल रहा है। प्रदेश की रिकवरी दर 93.19 प्रतिशत और सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण दर 10.91 प्रतिशत पहुंच गई है।
देहरादून जिले में 1224 संक्रमित मिले हैं। नैनीताल में 431, हरिद्वार में 426, ऊधमसिंह नगर में 399, चंपावत में 35, पौड़ी में 106, अल्मोड़ा में 103, टिहरी में 47, पिथौरागढ़ में 44, बागेश्वर में 59, चमोली में 71, रुद्रप्रयाग में 20, उत्तरकाशी जिले में 40 संक्रमित मिले हैं।

दून अस्पताल में 35 मरीज भर्ती, 370 को लगी वैक्सीन
राजधानी के दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में गुरुवार को ओपीडी में 700 से अधिक मरीज देखे गए। अस्पताल में कोरोना ग्रसित 35 मरीज भर्ती हैं। पिछले 24 घंटे में 11 मरीज भर्ती हुए हैं। अस्पताल के एमएस आवास में कोविशील्ड की 250 और कोवाक्सीन की 120 डोज लगाई गई। गुरुवार को लैब बंद होने के चलते सैंपलिंग नहीं हुई। नोडल अधिकारी डॉ. अनुराग अग्रवाल ने बताया कि जिन भी मरीजों को कोई भी लक्षण नहीं है, उनको कोविड-19 टेस्ट कराने की आवश्यकता नहीं है।
60 वर्ष अधिक तथा हाई रिस्क मरीज जैसे डायबिटिक इत्यादि बीमारी वाले मरीजों को कोविड-19 टेस्ट कराना चाहिए। जिन भी कोविड-19 से ग्रसित मरीजों को हल्के लक्षण हैं, उनका होम आइसोलेशन समय सात दिन का है। प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना ने निर्देशित किया है कि ओपीडी, आईपीडी, टीकाकरण, सैंपलिंग आदि में मरीजों को किसी तरह की दिक्कत न आए। इसके लिए सभी एचओडी को निर्देशित किया गया है।

तीर्थनगरी में 81 लोग संक्रमित
वहीं, गुरुवार को तीर्थनगरी ऋषिकेश में 10 पर्यटकों समेत 81 लोग संक्रमित पाए गए हैं। मुनिकीरेती घूमने आए संक्रमित पर्यटक वापस लौट चुके हैं।
मुनिकीरेती क्षेत्र के कोविड नोडल अधिकारी डा. जगदीश जोशी ने बताया कि एक दिन पहले बुधवार को 104 लोगों का आरटीपीसीआर कराया था। इसकी रिपोर्ट गुरुवार को आयी है, इनमें 27 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। संक्रमितों में 10 पर्यटक हैं, जो वापस जा चुके हैं। उन्हें ट्रेस करने का प्रयास चल रहा है। वहीं, सरकारी अस्पताल में एक दिन पहले 143 लोगों ने आरटीपीसीआर कराया था। सैंपल एम्स ऋषिकेश भेजे गए थे, इसकी रिपोर्ट गुरुवार को मिली है। इनमें कोरोना के 44 नए मामले आए हैं। स्वास्थ्य पर्यवेक्षक एसएस यादव ने बताया कि गुरुवार को अस्पताल में 79 लोगों ने एंटीजन रेपिड टेस्ट कराया था, इसमें 10 की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। बताया कि सभी को होमआईसोलेट किया जा रहा है।

उत्तराखंड में एक्‍टिव केस पहुंचे आठ हजार पार

कोरोना संक्रमण के लिहाज से उत्तराखंड में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। आज बुधवार को यहां कोरोना की स्थिति विस्फोटक रही। राज्‍य में कोरोना संक्रमण के 2915 नए मामले मिले हैं। सक्रिय मामले 8018 पहुंच गए हैं। इधर, तीन मरीज की मौत भी हुई है। उत्‍तराखंड में कोरोना के सक्रिय मामले बढ़कर 8018 तक पहुंच गए हैं। इससे अस्पतालों पर भी दबाव बढ़ रहा है। देहरादून जनपद में कोरोना के सबसे अधिक 3412 सक्रिय मामले हैं। इसके अलावा हरिद्वार में 1389, नैनीताल में 1625 व ऊधमसिंह नगर में 502 कोरोना के सक्रिय मरीज हैं।

खानपुर विधायक और बेटा संक्रमित
रुड़की में कोरोना संक्रमण का कहर बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक आज 152 मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। कोरोना संक्रमित मरीजों में खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चौंपिंयन, उनके पुत्र और सिविल अस्पताल रुड़की के रेडियोलॉजिस्ट भी शामिल हैं। इनके साथ मंगलौर कोतवाली व भगवानपुर थाने के कुछ पुलिस कर्मियों में कोरोना की पुष्टि हुई है।

कोटद्वार में कोरोना संक्रमित बुजुर्ग की मौत
राजकीय बेस चिकित्सालय कोटद्वार में भर्ती कोरोना संक्रमित एक बुजुर्ग की उपचार के दौरान मौत हो गई। चिकित्सालय प्रशासन ने कोरोना गाइडलाइन के तहत बुजुर्ग का अंतिम संस्कार करवाया। स्वास्थ्य विभाग की ओर से बजुर्ग के संपर्क में आने वाले अन्य व्यक्तियों की भी कोरोना जांच करवाई जा रही है। वहीं, बुधवार को दुगड्डा ब्लाक के अलग-अलग क्षेत्रों में रहने वाले 15 व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

जिलेवार मिले कोरोना संक्रमित
अल्मोड़ा————85
बागेश्वर————34
चमोली ———— 27
चम्पावत ————119
देहरादून ————1361
हरिद्वार————374
नैनीताल————424
पौड़ी गढ़वाल ——131
पिथोरागढ़————70
रुद्रप्रयाग————09
टिहरी गढ़वाल——-63
यू.एस. नगर————217
उत्तरकाशी————01

जिलों में सक्रिय कोरोना संक्रमितों की स्थिति
अल्मोड़ा————128
बागेश्वर————55
चमोली ————115
चम्पावत ————216
देहरादून ————3412
हरिद्वार————1389
नैनीताल————1625
पौड़ी गढ़वाल ————194
पिथोरागढ़ ————194
रुद्रप्रयाग ————42
टिहरी गढ़वाल———–109
यू.एस. नगर————504
उत्तरकाशी————17
कुल ————— 8018

71 पयर्टक समेत 141 लोगों को कोरोना
तीर्थनगरी ऋषिकेश में कोरोना की रफ्तार कम नहीं हो रही है। बुधवार को संक्रमण के रिकार्ड 141 नए मामले सामने आए हैं। जिसमें लक्ष्मणझूला घूमने आए 71 पर्यटक भी शामिल हैं। जबकि सरकारी अस्पताल ऋषिकेश में हुई जांच में 46 में कोरोना की पुष्टि हुई है। यमकेश्वर ब्लॉक के नोडल अधिकारी डा. राजीव कुमार 71 पर्यटक कोरोना पॉजिटिव आए है। ये लोग दिल्ली, गुजरात, यूपी समेत अन्य राज्यों के रहने वाले है। सभी वापस लौट चुके हैं। उन्हें ट्रेस किया जा रहा है।
बताया कि पर्यटको के अलावा 9 स्थानीय लोगों में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं, ऋषिकेश सरकारी अस्पताल के स्वास्थ्य पर्यवेक्षक ने बताया कि बीते मंगलवार को अस्पताल में 197 लोगों ने कोरोना जांच कराई थी। बुधवार को रिपोर्ट मिली है। 46 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। उधर, मुनिकीरेती में कोविड अधिकारी डा. जगदीश जोशी ने बताया कि 15 लोग पॉजिटिव निकले हैं। स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमितों के होमआइसोलेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

टूट रहे रिकॉर्ड, आज मिले कोरोना के 2127 केस

उत्तराखंड में कोरोना के सारे रिकॉर्ड टूटने लगे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से मंगलवार को जारी हेल्थ रिपोर्ट में प्रदेशभर में 2127 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 6603 हो गई है। आईआईटी रुड़की में कोरोना के 13 केस भी आए हैं। मंगलवार को दून मेडिकल कॉलेज में भर्ती एक संक्रमित मरीज की मौत हो गई, जिससे राज्य में कोरोना संक्रमण के बाद मरने वाले मरीजों की कुल संख्या 7430 हो गई है। राज्य के विभिन्न अस्पतालों व होम आईसोलेशन में रह रहे 416 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है जिसके बाद अब एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 6603 हो गई है।
हेल्थ बुलेटिन के आंकड़ों के अनुसार, सबसे अधिक 991 कोरोना केस राजधानी देहरादून में मिले हैं। नैनीताल 451, हरिद्वार 259, उधमसिंह नगर 189, पौड़ी 48, उतरकाशी 13, टिहरी 35, बागेश्वर 04, अलमोड़ा 43, पिथौरागढ़ 30, रुद्रप्रयाग 13, चंपावत 26 और चमोली जिले में कोरोना के 25 नए केस आए हैं। कोरोना के बढ़ते केसों के बीच हेल्थ विभाग पहले से ज्यादा अलर्ट मोड पर आ गया है। संदिग्धों की पहचान करन उन्हें आइसोलेट किया जा रहा है, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

संक्रमण दर 10 फीसदी के करीब
मंगलवार को कारोना के अत्यधिक मरीज मिलने से राज्य में एक बार फिर कोरोना संक्रमण की दर दस फीसदी के करीब चिंताजनक स्तर पर पहुंच गई है। राज्यभर की लैब से 21 हजार से अधिक सैंपलों की जांच रिपोर्ट आई जिसमें 2127 नए मरीज मिले हैं। जबकि 25 हजार 371 मरीजों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। राज्य में कोरोना की तीसरी लहर के दौरान पहली बार मंगलवार को 25 हजार से अधिक सैंपल जांच के लिए भेजे हैं। अभी तक सरकार ने एक दिन में 25 हजार जांच का लक्ष्य तय किया था लेकिन अब इसे बढ़ाए जाने की जरूरत महसूस हो रही है।

संक्रमण दर में देहरादून टॉप पर
पहली और दूसरी लहर की तरह ही कोरोना की तीसरी लहर में भी देहरादून जिला कोरोना संक्रमण में सबसे आगे चल रहा है। एसडीसी फाउंडेशन की आरे से मंगलवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक सप्ताह में देहरादून संक्रमण के मामले में राज्य में पहले स्थान पर है। देहरादून में इस दौरान 11 प्रतिशत से अधिक की संक्रमण दर रही है। नैनीताल में 10 प्रतिशत, पौड़ी में पांच प्रतिशत के करीब, हरिद्वार में 3.27 प्रतिशत संक्रमण दर है। इसके अलावा राज्य के अन्य जिलों में अभी संक्रमण दर कम है। हालांकि इन जिलों में सैंपलों की जांच भी बेहद कम हो पा रही है।

80 पर्यटकों सहित रिकॉर्ड 117 लोग संक्रमित मिले
तीर्थनगरी ऋषिकेश में मंगलवार को कोरोना के रिकॉर्ड नए मामले सामने आए। लक्ष्मणझूला और ऋषिकेश क्षेत्र में 80 पर्यटकों समेत 117 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। संक्रमितों में ऋषिकेश रोडवेज डिपो का एक कर्मचारी भी शामिल है। स्वास्थ्य विभाग ने सभी के होमआइसोलेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।
लक्ष्मणझूला क्षेत्र के कोविड नोडल अधिकारी डा. राजीव कुमार ने बताया कि क्षेत्र में 80 पर्यटकों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली है। संक्रमित पर्यटक दिल्ली, गाजियाबाद, मोदीनगर, रुड़की, राजस्थान आदि इलाके के रहने वाले है। इनकी एक दिन पहले जांच की गई थी। ये सभी लोग वापस लौट चुके है। इसके साथ ही यमकेश्वर और लक्ष्मणझूला क्षेत्र के 13 स्थानीय लोगों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव मिली है। स्थानीय लोग को मिलाकर कुल 93 कोरोना के नए केस क्षेत्र में मिले हैं।
वहीं, सरकारी अस्पताल ऋषिकेश में बीते सोमवार को 126 लोगों ने आरटीपीसीआर टेस्ट कराया था। सभी के सैंपल जांच के लिए एम्स ऋषिकेश भेजे गए थे, इनकी रिपोर्ट मंगलवार को मिली। स्वास्थ्य पर्यवेक्षक एसएस यादव ने बताया कि 24 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। संक्रमित बापूग्राम, 20 बीघा, आवास विकास कॉलोनी, श्यामपुर, गंगा नगर, शिवलोक कॉलोनी, इंदिरानगर, सुमन विहार, मनीराम रोड, तपोवन, हीरालाल मार्ग, ढालवाला आदि क्षेत्रों के निवासी हैं। बताया कि सभी ने बुखार, जुकाम और खांसी की शिकायत होने पर जांच करायी थी।

बूस्टर डोज का अभियान शुरु, इन्हें लगेगी वैक्शीन

कोरोना संक्रमण के बाद अब देश, विदेश में नए वैरिएंट के आने से स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। कोरोना वैक्सीन के बाद अब नए वैरिएंट से बचने के लिए बूस्टर डोज (प्रीकॉशन डोज) लगनी शुरू हो गई है। पूरे देश के साथ ही उत्तराखंड में भी इसकी शुरुआत 10 जनवरी से हो गई है। इसके लिए पहले 60 आयु वर्ग के ऊपर वाले लोगों का टीकाकरण हो रहा है। टीकाकरण केंद्र में स्वास्थ्य विभाग की तैयारियां चाक-चौबंद हैं। बूथों पर 20 प्रतिशत वैक्सीन तीसरी डोज के लिए उपलब्ध है।
इसके लिए पहले हेल्थ वर्कर और फ्रंट लाइन में कार्य कर रहे लोगों का टीकाकरण हुआ। इस डोज को लगाने से पहले उनके पास कोरोना वैक्सीन के नौ महीने पूरे होना वाला सर्टिफिकेट का होना अनिवार्य है। बिना नौ महीने पूरे करने वालों को यह डोज नहीं लगाई जाएगी। यह डोज अभी 60 आयु वर्ग के ऊपर वाले लोगों को लगाई जा रही है।

प्रदेश में 16 जनवरी 2021 से शुरू हुआ था कोविड टीकाकरण अभियान
प्रदेश में 16 जनवरी 2021 से कोविड टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था। सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्करों को वैक्सीन लगाई गई। जिसके बाद मार्च महीने से 60 से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण शुरू किया गया। कोरोना संक्रमण बढ़ने से केंद्र सरकार ने बुजुर्गों, हेल्थ वर्करों और फ्रंटलाइन वर्करों को प्रीकॉशन डोज के रूप में तीसरा टीका लगाने का निर्णय लिया है।
देहरादून के जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. कुलदीप मर्ताेलिया ने बताया कि बुजुर्गों, स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्करों को 10 जनवरी से तीसरा टीका लगाया जा रहा है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने सभी तैयारियां पूरी कर ली थीं। टीकाकरण बूथों पर तीसरी डोज के लिए 20 प्रतिशत वैक्सीन अलग से उपलब्ध रहेगी। जिन लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने के लिए नौ महीने या 39 सप्ताह का समय हो गया है। उन्हें ही तीसरी डोज लगाई जाएगी।

एक सप्ताह में 46 प्रतिशत किशोरों को लगी पहली डोज
स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में 15 से 18 वर्ष के 2.88 लाख से अधिक किशोरों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है। जो लक्ष्य का 46 प्रतिशत है।

1292 केस मिलने के साथ आज 5 संक्रमित लोगो की मौत

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद अब मरीजों की मौत के आंकड़े भी बढ़ गए हैं। सोमवार को विभिन्न अस्पतालों में इलाज करा रहे पांच संक्रमितों की मौत हो गई। कोरोना से एक ही दिन में इतनी संख्या में मरीजों की मौत का आंकड़ा 23 जून 2021 के बाद सामने आया है। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार सोमवार को एम्स ऋषिकेश में तीन, दून मेडिकल कॉलेज में एक जबकि पौड़ी जिले में एक संक्रमित की मौत हुई है।
इसके साथ ही राज्य में कोरोना से मरने वालों का कुल आंकड़ा अब 7429 हो गया है। सोमवार को देहरादून में 441, हरिद्वार में 254, नैनीताल में 220, यूएस नगर में 193 नए मरीज मिले। इसके अलावा अल्मोड़ा में 36, बागेश्वर में सात, चमोली में 15, चम्पावत में सात, पौड़ी में 56, पिथौरागढ़ में 12, रुद्रप्रयाग में 14, टिहरी में 28 और उत्तरकाशी में नौ नए संक्रमित मिले हैं।
राज्य भर के अस्पतालों से सोमवार को 294 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया जिससे एक्टिव मरीजों की संख्या 5009 हो गई है। राज्य में कोरोना संक्रमण की दर 7.57 प्रतिशत जबकि मरीजों के ठीक होने की दर 94 प्रतिशत से अधिक चल रही है। सोमवार को कुल 15 हजार सात सौ के करीब सैंपलों की रिपोर्ट लैब से मिली जबकि 21 हजार के करीब सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।

पर्यटकों सहित कोरोना के 30 नए मामले मिले
मुनिकीरेती, ऋषिकेश में कोरोना की रफ्तार नहीं थम रही है। सोमवार को दिल्ली के पांच पर्यटकों समेत 30 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। सभी मरीजों को आईसोलेट कराने की प्रक्रिया में स्वास्थ्य विभाग की टीम जुट गई है। मुनिकीरेती में कोविड नोडल अधिकारी डा. जगदीश जोशी ने बताया की 16 लोगों के एंटीजन रैपिड टेस्ट लिए गए थे, जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। जबकि चार लोगों की रिपोर्ट निजी लैब से आई है। मरीजों को आईसोलेट किया जा रहा है। वहीं, ऋषिकेश के सरकारी अस्पताल में हुई जांच में 10 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। स्वास्थ्य पर्यवेक्षक एसएस यादव ने बताया कि अस्पताल में 137 लोगों की आरटीपीसीआर और 50 लोगों का एंटीजन रैपिड टेस्ट हुआ था, इनमें 10 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। दो लोगों को कोरोना दवा की किट दी गई है। सभी को होम आईसोलेट किया गया है।

चुनावी माहौल के बीच कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली है। बीते 24 घंटे में 1413 नए संक्रमित मिले हैं। वहीं एक मरीज की मौत हुई है। संक्रमण दर 07.79 प्रतिशत हो गई है। जबकि 482 संक्रमित ठीक हुए हैं। 14118 सक्रिय मरीजों का इलाज चल रहा है। कुल संक्रमितों की संख्या 350885 हो गई है।
उत्तराखंड में चुनावी माहौल के बीच कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा है। रविवार को प्रदेश में एक दिन में 1413 लोग कोरोना की चपेट में आए हैं। जबकि देहरादून जिले में सबसे अधिक 505 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं।
नैनीताल में 139, हरिद्वार में 299, पिथौरागढ़ में 8, अल्मोड़ा में 21, ऊधमसिंह नगर में 203, चंपावत में 12, टिहरी में 22, उत्तरकाशी में 8, बागेश्वर में 3, पौड़ी में 147, चमोली में 34, रुद्रप्रयाग में 12 संक्रमित मिले हैं। संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वालों की संख्या घटी है। राज्य में कुल 332655 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। रिकवरी दर 94.80 प्रतिशत दर्ज की गई। कुल मृतकों की संख्या 7424 हो गई है।

पर्यटकों की आमद बढ़ने से रोपवे कर्मचारी भी संक्रमित
चमोली जिले में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। रविवार को जोशीमठ-औली रोपवे के 27 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आए हैं। जबकि दो कर्मचारी दो दिन पहले पॉजिटिव आए थे। जिसके चलते प्रशासन ने रोपवे का संचालन फिलहाल बंद करा दिया गया है। एसीएमओ डा. उमा रावत ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि रोपवे कर्मचारियों के पॉजिटिव आने की सूचना प्रशासन को दे दी गई है।
दरअसल इन दिनों औली में बड़ी संख्या में बाहर से पर्यटक आ रहे हैं, जिसमें अधिकांश रोपवे से औली पहुंचना पसंद कर रहे हैं। जोशीमठ-औली मोटर मार्ग पर बर्फ और पाला गिरा होने से भी मार्ग काफी खतरनाक बना हुआ है, जिसके चलते इस पर वाहनों का आवागमन काफी सीमित हो रखा है। ऐसे में अब जीएमवीएन (गढ़वाल मंडल विकास निगम) को रोपवे संचालन करना चुनौती बन गया है।
एसडीएम जोशीमठ कुमकुम जोशी ने बताया कि कर्मचारियों के स्वस्थ होने तक रोपवे का संचालन बंद रहेगा। सोमवार को वहां सैनिटाजेशन किया जाएगा। साथ ही अन्य कोविड गाइड लाइन का पालन कराते हुए आगे की कार्रवाई की जाएगी।