यात्रियों से फर्जीवाड़ा करने पर अज्ञात पर मुकदमा दर्ज

मुनिकीरेती पुलिस के मुताबिक, श्याम सोंधिया पुत्र गणेश प्रसाद निवासी रामकुई थाना चोरहटा जिला रीवा, मध्यप्रदेश की ओर से तहरीर दी गई है। बताया कि अज्ञात व्यक्ति ने उनके व उनके साथ बस में आये अन्य तीर्थयात्रियों से चारधाम यात्रा में रजिस्ट्रेशन बनाने के नाम पर 250 रूपये प्रति व्यक्ति लिये गये। बताया कि कुछ 13 हजार 805 रूपये अज्ञात व्यक्ति ने सभी से एकत्र किये और रजिस्ट्रेशन बनवाकर दिया।

पीड़ित तीर्थयात्री ने बताया कि जब भद्रकाली पुलिस चेक पोस्ट पर बस पहुंची तो सभी के रजिस्ट्रेशन की जांच की गई। जिसमें छह तीर्थयात्रियों के रजिस्ट्रेशन फर्जी पाए गए। इसके चलते चारधाम पर जाने नहीं दिया गया।

मामले में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ तीर्थयात्रियों के साथ धोखाधड़ी करने पर आईपीसी की धारा 420 में मुकदमा पंजीकृत किया है।

पांच सदस्यीय कमेटी समान नागरिक संहिता के कानून बनाने को करेगी ड्राफ्ट तैयार

उत्तराखंड से इस वक्त की सबसे बड़ी खबर है। समान नागरिक संहिता के लिए कानून बनाने हेतु मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने कमेटी का गठन कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट की पूर्व जज रंजना प्रकाश देसाई की अध्यक्षता में समिति का गठन किया गया है जो (Dhami Govt formed drafting commitee on Uniform Civil code ) समान नागरिक संहिता का ड्रांफ्ट तैयार करेगी। इसके अलावा एक और रिटायर्ड जज, समाजसेवी, शिक्षाविद और पूर्व आईएएस को भी इस समिति में रखा गया है।

चुनाव के वक्त मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने डंके की चोट पर कॉमन सिविल कोड लागू करने का ऐलान किया था। दूसरी पारी शुरू होते ही धामी सरकार ने इस मुद्दे पर समिति गठित करने का प्रक्रिया शुरू की थी। आज राज्यपाल की स्वीकृति मिलते ही यूसीसी पर गठित समिति अस्तित्व में आ गई है।

यूनिफॉर्म सिविल कोड पर धामी सरकार की ड्राफ्टिंग कमेटी में 5 सदस्यों को शामिल किया गया है जिसमें पूर्व न्यायाधीश रंजना प्रकाश देसाई को इस कमेटी का चेयरपर्सन बनाया गया है। इसके अलावा पूर्व मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह, हाईकोर्ट के पूर्व जज प्रमोद कोहली, सामाजिक कार्यकर्ता मनु गौड़ व दून विश्वविद्यालय की कुलपति सुरेखा डंगवाल को भी कमेटी में शामिल किया गया है।

यूनिफॉर्म सिविल कोड पर कमेटी गठित होने पर उत्तराखंड राज्य देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है जिसने यूनिफॉर्म सिविल कोड के लिए पहल शुरू कर दी है।

कांग्रेस संगठनात्मक चुनाव को लेकर आज हुई बैठक

छिद्दरवाला चौक पर कांग्रेस कार्यालय में कांग्रेस संगठनात्मक चुनाव के मद्देनज़र ब्लॉक कांग्रेस रायवाला के ब्लॉक चुनाव अधिकारी शरत शर्मा की अध्यक्षता में हुई।
ब्लॉक चुनाव अधिकारी शरत शर्मा ने कहा कि कांग्रेस संगठनात्मक चुनाव प्रक्रिया के तहत आज रायवाला ब्लॉक कांग्रेस के बूथ अध्यक्षों व बूथ डेलीगेटों के चुनाव के लिये सर्वसम्मति से नाम लिये गये व सर्वसम्मति निर्वाचित घोषित किये गये इसके पश्चात द्वितीय चरण में ब्लॉक अध्यक्ष व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य का चुनाव होगा।

कांग्रेस के पूर्व विधायक प्रत्याशी जयेन्द्र रमोला ने कहा कि कांग्रेस एक लोकतांत्रिक संगठन है इसके तहत इसमें चुनाव किये जा रहे हैं और आज रायवाला कांग्रेस ब्लॉक कमेटी के बूथ अध्यक्षों, बूथ डेलीगेटों व ज़िला सदस्यों का सर्वसम्मति से चयन किया गया और जल्द ही ब्लॉक अध्यक्ष सहित ब्लॉक कार्याकारिणी का चुनाव किया जायेगा।

कार्यक्रम में पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष बरफ सिंह पोखरियाल, गोकुल रमोला, रूकम सिंह पंवार, सतेंद्र सिंह, धीरज थापा, मोहन सिंह डोबलियाल, विजय सिंह बिष्ट, अंशुल त्यागी, अल्का क्षेत्री, दीपा चमोली, राकेश जोशी, कमल रावत, प्रवीण बिष्ट, रवि राणा, रोशन व्यास, रघुनाथ सिंह, भरत सोलंकी, हरी सिंह राणा, तेजपाल सिंह कलूडा, अर्जुन थापा, सूरत रांगढ आदि मौजूद रहे।

मुख्य सचिव ने की उत्तराखंड रोपवे प्रोजेक्ट्स की समीक्षा

मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु ने उत्तराखण्ड में रोपवे प्रोजेक्ट्स की समीक्षा की। बैठक के दौरान मुख्य सचिव ने सभी प्रोजेक्ट्स की प्रगति की जानकारी ली।

मुख्य सचिव ने अधिकारियों को सभी प्रोजेक्ट्स के लिए टाइम लाइन्स निर्धारित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रत्येक स्टेप के लिए प्रत्येक स्तर पर टाइम लाइन निर्धारित किए जाने की बात कही। उन्होंने सभी प्रोजेक्ट्स की डीपीआर और फॉरेस्ट और अन्य प्रकार की क्लियरेंस की कार्यवाही में तेजी लाने के निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने कहा कि सभी प्रोजेक्ट्स में जो कार्य एक साथ शुरू किए जा सकते हैं, किए जाएं, इससे कार्यों में तेजी आएगी। उन्होंने सभी प्रोजेक्ट्स की लगातार समीक्षा कर आ रही समस्याओं को दूर किए जाने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि सोनप्रयाग – गौरीकुंड – केदारनाथ रोपवे और गोविंदघाट – घांघरिया – हेमकुंड साहिब रोपवे की डीपीआर को अंतिम रूप दिया जा रहा है, जबकि पंचकोटी से बौराड़ी, बलाती बैंड से खलिया टॉप, ऋषिकेश से नीलकंठ, औली से गोरसों और रानीबाग से हनुमान टेंपल रोपवे प्रोजेक्ट्स की डीपीआर हेतु कंसल्टेंट नियुक्त कर दिया गया है।

इस अवसर पर सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

लक्ष्मणझूला पुलिस ने गंगा तट पर शराब का सेवन करने पर सात लोगों का काटा चालान

लक्ष्मणझूला पुलिस ने मिशन मर्यादा का उल्लंघन करने पर संतसेवा घाट तथा राधेश्याम घाट से सात पर्यटकों का चालान किया है।

पुलिस के मुताबिक, पुलिस टीम को गस्त व चेकिंग के दौरान संत सेवाघाट तथा राधेश्याम घाट पर शराब पीकर हुड़दंग कर रहे सात व्यक्तियों को तत्काल गिरफ्तार कर उनके विरुद्ध पुलिस अधिनियम के अंतर्गत कार्यवाही की गई।

पुलिस ने आरोपियों के नाम मनोज कुमार निवासी साहपुर थाना पिसावा जिला अलीगढ़ उत्तर प्रदेश, सुभाष निवासी ग्राम जलालपुर थाना पिसावा जिला अलीगढ़ उत्तर प्रदेश, उमेश कुमार निवासी बुलंदशहर जिला बुलंदशहर, मौला वर्मा निवासी ग्राम पिसावा थाना पिसावा जिला अलीगढ़ उत्तर प्रदेश, भारत सिंह निवासी सरोजिनी नगर दिल्ली, भुवन निवासी हुमायूंपुर दिल्ली और जॉनी निवासी हुमायूंपुर दिल्ली के रूप में कराई है।

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई उत्तराखंड स्टार्टअप काउंसिल की बैठक

मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु की अध्यक्षता में सचिवालय में उत्तराखण्ड स्टार्टअप काउंसिल की बैठक संपन्न हुई। बैठक के दौरान मुख्य सचिव ने प्रदेश में स्टार्टअप को बढ़ावा दिए जाने हेतु लगातार पॉलिसी में सुधार किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि स्टार्टअप और इंक्यूबेटर्स को सरकार द्वारा लगातार सहयोग दिया जाए।

मुख्य सचिव ने फोकस सेक्टर को सीमाओं में न बांधते हुए सभी सेक्टर्स में फोकस किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्टार्टअप्स हेतु आयोजित आइडिया चौलेंज के अंतर्गत टॉप 10 सुझावों को दिए जाने वाले 50 हजार रुपए का कैश प्राइज को बढ़ाकर टॉप 20 सुझावों को 2 लाख रुपए का कैश प्राइज दिए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने इंक्यूबेटर्स को दिए जाने वाले ऑपरेशन एंड मेंटेनेंस एक्सपेंसेज को 2 लाख से बढ़ाकर 5 लाख किए जाने और कैपिटल ग्रांट को 1 करोड़ से 2 करोड़ किए जाने के भी निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने अधिकारियों को स्टार्टअप्स के साथ मासिक रूप से बैठकें आयोजित कर उनकी समस्याओं को दूर करने हेतु लगातार प्रयास किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने आइडिया शेयरिंग के लिए उद्योग विभाग, इंक्यूबेटर और स्टार्टअप्स का एक व्हाट्सएप ग्रुप के साथ ही डिपार्टमेंट की वेबसाइट में ऐसा सिस्टम डेवलप करने के निर्देश दिए जिससे आपस में आइडियाज और जानकारियां साझा की जा सकें।

मुख्य सचिव ने सभी विभागों को स्टार्टअप की दिशा ने कुछ न कुछ किए जाने के निर्देश दिए, ताकि इससे प्रत्येक क्षेत्र में स्टार्टअप को बढ़ावा मिल सके। उन्होंने अधिकारियों को इन्नोवेटिव आइडिया के साथ ही अन्य राज्यों द्वारा किए जा रहे अच्छे आइडियाज को तुरंत अपनाए जाने के भी निर्देश दिए। ऐसे आइडियाज जो अच्छे तो हैं, परन्तु किसी कारण से उन्हें फंडिंग नहीं मिल पा रही है, उनके लिए सरकारी सिस्टम को सहयोग के लिए आगे आने की आवश्यकता बताई।

इस अवसर पर सचिव सौजन्या, सचिव डॉ. पंकज पाण्डेय एवं प्रबन्ध निदेशक सिडकुल रणवीर सिंह चौहान सहित उत्तराखण्ड स्टार्टअप काउंसिल के अन्य सदस्य उपस्थित थे।

शहरी विकास मंत्री को व्यापारियों ने बताई अपनी पीड़ा

कैबिनेट मंत्री व क्षेत्रीय विधायक प्रेमचंद अग्रवाल से नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के अध्यक्ष ललित मोहन मिश्र के नेतृत्व में व्यापारियों के एक दल ने मुलाकात की। इस मौके पर व्यापारियों ने कैबिनेट मंत्री के समक्ष भरत विहार खसरा संख्या 279/1 में निर्माण कार्य स्थानीय प्रशासन द्वारा रोके जाने का विषय रखा।

बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय में व्यापारी नेता ललित मोहन मिश्र ने बताया कि भरत विहार में खसरा संख्या 279/1 में व्यापारियों द्वारा छोटे-छोटे जमीन के कुछ टुकड़े पूर्व में खरीदें गये थे। बताया कि इस भूमि पर रास्ते के लिए 18 फरवरी 2020 को अनापत्ति प्रमाण पत्र तत्कालीन एसडीएम ऋषिकेश ने दिया था। इसी क्रम में वर्ष 2021 में इस भूमि के कुछ छोटे टुकड़ों को बेचा भी गया है।

बताया कि जो भूमि जिलाधिकारी के नाम दर्ज है उसका खसरा संख्या 279/12 है। बताया कि जिलाधिकारी के आदेश पर स्थानीय प्रशासन व्यापारियों को खरीदी गई भूमि पर निर्माण नहीं करने दे रहा है। इस संबंध में व्यापारियों ने विक्रेता से भूमि की स्थिति स्पष्ट करने को कहा। जिस पर विक्रेता ने भूमि से जुड़े वर्ष 1959 के राजस्व अभिलेखों में दर्ज दस्तावेज दिखाए। जिसका नगर निगम संपत्ति संख्या 168हरिद्वार मार्ग , रकबा 4.3360 हेक्टेअर है।

व्यापारियों ने कैबिनेट मंत्री को बताया कि अपनी भूमि पर निर्माण कार्य न होने के कारण मानसिक रूप से परेशान हैं। उन्होंने मंत्री जी से मामले का संज्ञान लेकर निस्तारण करने की मांग की।

इस संबंध में कैबिनेट मंत्री जी ने सकारात्मक कार्यवाही की बात कही।

मुलाकात करने वालों में रमाकांत गुप्ता, हेमंत सुनेजा, ललित अग्रवाल, अवनीश गुप्ता, रंगपाल सिंह, शंभू पासवान, आशू डंग, रवि जैन, महेश किंगर, प्रदीप गुप्ता आदि व्यापारी मौजूद रहे।

टिहरी में आयोजित जर्नी ऑफ टिहरी डैम कार्यक्रम में सीएम ने की शिरकत

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं केंद्रीय विद्युत, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह ने टिहरी हाइड्रो डेवलपमेंट कॉरपोरेशन द्वारा आयोजित “जर्नी ऑफ टिहरी डैम“ कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि टीएचडीसी की टिहरी यात्रा कार्यक्रम के प्रारम्भ से पूर्व अतीत की ओर देखें तो जल विद्युत की अपार संभावनाओं वाले इस राज्य में वर्ष 1906-07 से ही लघु जल विद्युत परियोजनाओं की स्थापना होने लगी थी। 1914 में मसूरी के भट्टाफॉल में स्थापित ग्लोगी जल विद्युत परियोजना जो मैसूर के बाद देश का दूसरा और उत्तर भारत का प्रथम विद्युत संयंत्र था। जिसका वर्तमान में पुनः कायाकल्प किया जा रहा है।
समय के साथ-साथ ग्लोगी जल विद्युत परियोजनाओं से लेकर पंचेश्वर बांध परियोजना सहित लगभग 21 जल विद्युत परियोजनाओं में कई परियोजनायें निर्मित एवं क्रियाशील हैं, कुछ एक निर्माणाधीन हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जल विद्युत परियोजना के इस सफर में टीएचडीसी का पदार्पण केन्द्र सरकार के माध्यम से 1989 में हुआ तथा 1990 में इस कार्पाेरेशन को विस्थापित लोगों के पुनर्वास की भी जिम्मेदारी सौंपी गई। 2400 मेगावॉट विद्युत उत्पादन क्षमता वाली इस परियोजना में दो चरण हैं। प्रथम चरण में 1000 मेगावॉट की टिहरी बांध एवं जल विद्युत परियोजना है। द्वितीय चरण में 1000 मेगावाट की टिहरी पम्प स्टोरेज प्लान्ट तथा 400 मेगावाट की कोटेश्वर बांध एवं जल विद्युत परियोजना है। सरकार द्वारा गत वर्ष टी०एच०डी०सी० के जलाशय का जलस्तर 830 मीटर भरने की भी अनुमति प्रदान की गयी। सरकार के इस निर्णय से उत्पादन में, जो पहले 3000 मिलियन यूनिट थी, उसमें जलस्तर बढ़ोत्तरी से 20 मिलियन यूनिट अतिरिक्त विद्युत उत्पादन हो पाया है। जिससे 770 करोड़ रुपए की आय का प्रतिवर्ष बढ़ोत्तरी हो पा रही है।टिहरी बांध के अतिरिक्त कोटश्वर हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट सहित अन्य हाइड्रो, सौलर, पवन ऊर्जा स्रोतों से विद्युत उत्पादन कर रहा है तथा सौर ऊर्जा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भागीदारी निभा रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि ज्भ्क्ब्प्स् देश में ऊर्जा संचय में भारत सरकार की पहल में अग्रणी भूमिका बढ़ाते हुए शीघ्र ही टिहरी च्ैच् परियोजना को पूर्ण करेगा और देश के विभिन्न राज्यों में भारत सरकार द्वारा सौंपी गई विभिन्न स्टोरेज परियोजनाओं में भी द्रुत गति से कार्य आगे बढ़ायेगा।
केंद्रीय मंत्री आर.के.सिंह ने कहा कि ऊर्जा के क्षेत्र में हाइड्रो पॉवर का महत्व बहुत बढ़ गया। पर्यावरण को स्वच्छ बनाने की मुहिम में क्लीन सोर्सेज ऑफ एनर्जी पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने टिहरी हाइड्रो बांध की क्षमता के पूरे उपयोग के लिए सहमति देने के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का आभार व्यक्त किया। केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जिन राज्यों के पास हाईड्रो पॉवर का पोटेंशियल है, उन राज्यों की आर्थिकी को बढ़ाने में हाईड्रो पॉवर की अहम भूमिका रही है। हाईड्रो पॉवर के क्षेत्र में उत्तराखंड में भी अनेक संभावनाएं हैं। हैं। उन्होंने कहा कि हाइड्रो प्रोजेक्ट बनाने में कठिनाई तो है, लेकिन समाधान सेंसिविटी से किया जाय तो हाइड्रो प्रोजेक्ट फायदेमंद होते है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि टिहरी हाइड्रो प्रोजेक्ट के अंश के लिए उत्तराखंड सरकार से जो मांग की गई है, उस पर न्यायोचित कार्यवाही की जाएगी। टिहरी बांध से संबंधित पुनर्वास के सभी लंबित मामलों का समाधान किया गया है।
इस अवसर पर सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह, विधायक किशोर उपाध्याय, जिला पंचायत अध्यक्ष टिहरी सोना सजवान, सचिव ऊर्जा भारत सरकार आलोक कुमार, सीडीओ टिहरी नमामि बंसल, एसएसपी नवनीत भुल्लर, प्रबंध निदेशक टीएचडीसी राजीव विश्नोई मौजूद थे।

प्रधानमंत्री के आठ वर्ष पूर्ण होने पर मंत्री ने किया सफाई कर्मियों का सम्मान

कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल के सफलतम आठ वर्ष पूर्ण होने पर पर्यावरण मित्रों को सम्मानित किया।

कैम्प कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि आज का दिन लोकतांत्रिक इतिहास में विशेष महत्व रखता है। बताया आज ही के दिन 2014 में शानदार चुनावी जीत के बाद नरेंद्र मोदी ने देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की थी।
2019 में नरेंद्र मोदी ने लगातार दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री का पद संभाला और इस बार भी 26 मई की तारीख का एक खास महत्व था।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही श्री नरेन्द्र मोदी का स्वच्छ भारत अभियान एक ड्रीम प्रोजेक्ट रहा है। जिसका सकारात्मक असर आज देखने को भी मिल रहा है। आज लगभग हर व्यक्ति कचरे को इधर-उधर न फेंककर बल्कि कूड़ेदान में डालता है।

कहा कि आज देश के तमाम नगर निकाय भी अपने नगर को स्वच्छ बनाने की दिशा में सराहनीय काम कर रहे हैं और इसमें पर्यावरण मित्र अग्रणीय भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोविड काल में जब सभी अपने घरों में रहने को मजबूर थे, तब पर्यावरण मित्र ही फ्रंटलाइन वॉरियर्स की भूमिका में थे।

कहा कि उत्तराखंड सरकार ने भी इन पर्यावरण मित्रों का सम्मान किया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पर्यावरण मित्रों का मानदेय प्रतिदिन 500 रुपए करने की घोषणा की थी। इस मौके पर उन्होंने पर्यावरण मित्रों को पुष्पमाला और शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया।

सम्मानित होने वाले पर्यावरण मित्रों में लक्ष्मी देवी, सुमन, सोमिनी, पुष्पा, प्रवीण, सोनू, गुड्डी, लक्ष्मी देवी, रजनी, शोभा, प्रताप, आनंद सिंह, विनेश, पवन, गौरा देवी, प्रेमवती, अशोक, निर्मल, सुमन, सुमित, राहुल, संजय, मनोज, अमन, गुड्डी, राकेश कुमार, विषे देवी, अनूप, नितिन, रितिक, संजय, संजीव, नवल किशोर, भीम, राजेश, सागर, प्रवीण कालरा, अंकित, अंजू देव, शुभम, कुसुम, कविता, अलका, रेखा, धर्मेंद्र, सचिन चौहान, सुशील कुमार, बिरजू, अनुज, नितिन कुमार आदि शामिल रहे।

इस मौके पर विधानसभा चुनाव प्रभारी दिगंबर नेगी, मंडल अध्यक्ष ऋषिकेश दिनेश सती, वरिष्ठ पार्षद शिव कुमार गौतम, पूर्व सभासद कविता शाह, रविंद्र बिरला, दीपक बिष्ट, कांता शर्मा आदि मौजूद रहे।

कोतवाली पुलिस ने पोक्सो अधिनियम में युवक किया गिरफ्तार

कोतवाल रवि सैनी ने बताया कि एक महिला ने पुलिस को एक तहरीर दी थी, बताया था कि 26 मार्च को उनकी 15 साल की बेटी सुबह घर से स्कूल के लिए निकली थी। लेकिन वह घर नहीं लौटी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। मामले में पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि घनेश्वर उर्फ प्रवेश पाल निवासी भवकारिया, जौथरा जिला एटा, यूपी किशोरी को अपने साथ बहला- फुसलाकर भगा ले गया। पुलिस ने लापता किशोरी को एटा से ही सकुशल बरामद किया। जबकि आरोपी युवक मौके से फरार हो गया।

पूछताछ के दौरान किशोरी ने युवक पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। इसके बाद पुलिस ने मामले में दुष्कर्म सहित पॉक्सो की धारा भी बढ़ाई। कोतवाल रवि सैनी ने बताया कि पुलिस ने आरोपी युवक को एटा से धर लिया।