भाजपा अब लोकसभा की तैयारियों में जुटी

भाजपा की हल्द्वानी में हो रही प्रदेश कार्यसमिति में पार्टी नेतृत्व का पूरा फोकस 2024 में होने वाले लोक सभा चुनावों पर है। जिसके चलते पार्टी ने कार्यसमिति में केन्द्र की मोदी सरकार के 8 साल पूरे होने पर प्रदेशभर में उपलब्धियों के प्रचार-प्रसार के लिए कार्यक्रम चलाने का निर्यण लिया है।
भाजपा की दो साल के अंतराल के बाद हल्द्वानी में हो रही प्रदेश कार्यसमिति पर पूरी तरह से से मिशन-2024 पर ही फोकस किया जा रहा है। यही कारण है कि कार्यसमिति में तय हुए कार्यक्रमों में प्रदेश सरकार की उपलब्धियों के बजाए केन्द्र की मोदी सरकार की 8 साल की उपलब्धियों जन-जन तक पहुंचाने का निर्णय लिया गया है। जिसके लिए प्रदेश, जिला, ब्लाक व बूथ स्तर तक के लिए कार्यक्रम तय किए गए हैं। इन सारे कार्यक्रमों में केवल केन्द्र की उपलब्धियों का ही प्रचार किया जाएगा। कार्यसमिति में पहुंचे पार्टी के दिग्गज नेता व केन्द्रीय रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट, पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक।
प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट, कुलदीप कुमार, राजेन्द्र सिंह भंडारी का भी फोकस रहा कि कार्यसमिति के माध्यम से कैसे प्रदेशभर में जन-जन तक केन्द्र सरकार की उपलब्धियों को पहुंचाया जाए। यहां तक की कार्यसमिति के दौरान लगी विकास प्रदर्शनी भी पूरी तरह से केन्द्र की मोदी सरकार की उपलब्धियों पर केन्द्रीत रही।

68 लीटर कच्ची शराब के साथ नैनीताल के दो युवक गिरफ्तार


रायवाला थाना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर सत्यनारायण मंदिर के पास एक बाइक में सवार दो युवकों को रोका। इनके पास से 68 लीटर कच्ची शराब बरामद की।

थानाध्यक्ष भुवन चंद्र पुजारी ने बताया कि आरोपियों की पहचान बलविंदर सिंह पुत्र रंजीत सिंह और कुलदीप सिंह पुत्र प्रेम सिंह दोनों निवासी ग्राम तुमड़िया, थाना रामनगर जिला नैनीताल के रूप में हुई है। आरोपियों के खिलाफ संबंधित धारा में केस दर्ज किया है। साथ ही बाइक सीज की गई है।

नैनीताल का रामगढ़ क्षेत्र गुरुदेव की कर्मस्थली रहा-धामी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद नैनीताल के रामगढ़ मे शान्ति निकेतन ट्रस्ट फॉर हिमालया के तत्वाधान में गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर की 161 वां जयंती के शुभ अवसर पर आयोजित रविंदर जन्मोत्सव-2022 कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित करते हुए शुभारंभ किया।
कार्यक्रम के दौरान संयोजक प्रोफ़ेसर अतुल जोशी, क्षेत्रीय विधायक राम सिंह कैड़ा, पूर्व विदेश सचिव शशांक, देवेंद्र ढेला देवेंद्र बिष्ट, भाजपा के मंडल अध्यक्ष कुंदन चिलवाल आदि जनप्रतिनिधि द्वारा मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह, अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया।
मुख्यमंत्री धामी ने गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर के 161 वां जन्मोत्सव दिवस पर बधाई दी और रामगढ़ विश्व भारती केंद्रीय विश्वाविद्यालय के प्रथम परिसर का भी भूमि पूजन किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विकल्प रहित संकल्प के मंत्र पर अग्रसर है और जनकल्याण को समर्पित है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सरकार जनकल्याण की भावना के अनुरूप लगातार प्रदेश का चहुमुखी विकास कर रही है। प्रधानमंत्री का राज्य के प्रति गहरा लगाव है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार सबका साथ एवं सबका विकास के तहत कार्य करने के लिए दृढ़ संकल्पित है। रामगढ़ क्षेत्र के टैगोर टॉप स्थित गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर की कर्मस्थली जहां उन्होंने 19वीं शताब्दी में 5 बार यहां आकर अपनी काव्य रचना की। उन्हें साहित्य का नोबेल पुरस्कार मिला जो किसी एशियाई को पहला नोबेल पुरस्कार था।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामगढ़ में रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय के परिसर की स्थापना में अपनी रुचि व्यक्त की है, वह उत्तराखंड के लिए गर्व की बात है।
मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि इस सौगात से जहां विश्व भारती केंद्रीय विश्वविद्यालय उत्तराखंड को भारत के प्रमुख शिक्षा केन्द्र के रूप में स्थापित होने का अवसर प्राप्त होगा। वहीं स्थानीय युवाओं के लिए स्वरोजगार के नये अवसर उपलब्ध होंगे, तथा यह राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय शोधार्थियों के लिए भी नया गंतव्य बनेगा। उन्होंने कहा इसके लिए केंद्रीय राज्य मंत्री पर्यटन मंत्री एवं सांसद अजय भट्ट, पूर्व केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के विशेष प्रयास रहे।
उन्होंने कहा कि विश्व भारती की स्थापना के लिए प्रथम चरण में 150 करोड़ रूपये की डीपीआर केन्द्र सरकार में स्वीकृति की प्रक्रिया में है, उत्तराखंड सरकार द्वारा 45 एकड़ भूमि मे विश्व भारती केंद्रीय विश्वविद्यालय के परिसर की स्थापना की औपचारिकता पूर्ण कर ली गई। उन्होंने प्रो विदयुत चक्रवर्ती, कुलपति विश्वभारती पश्चिम बंगाल तथा शांतिनिकेतन ट्रस्ट फॉर हिमालया के प्रवासियों का भी धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि यह दशक उत्तराखंड का होगा। जो देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य होगा।
कार्यक्रम में राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रामगढ़ द्वारा सांस्कृतिक एवं देवभूमि सांस्कृतिक दल द्वारा छोलिया नृत्य की प्रस्तुति दी विभागों द्वारा उद्यान विभाग ग्रामीण आजीविका मिशन बोराकोट द्वारा स्टॉल भी लगाइए।
इस अवसर पर रविंद-सृजनिका नामक पुस्तिका का भी विमोचन किया गया।
इस अवसर विधायक भीमताल राम सिंह कैड़ा, कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति एनके जोशी, जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्याल ,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट, अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी, परियोजना निर्देश अजय सिह और भारी जन समूह उपस्थित रहा।

साइकिल स्टोर के मालिक ने किया तिरंगे का अपमान, पुलिस हिरासत में

हल्द्वानी में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे का अपमान करने पर पुलिस ने एक साइकिल स्टोर के मालिक को हिरासत में लिया है। दरअसल सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक व्यक्ति अपनी साइकिल (Cycle store owener arrested for insulting nmational flag Tri colour) की दुकान खोलने के बाद साइकिल को साफ करने के लिए तिरंगे का इस्तेमाल कर रहा है। एक व्यक्ति ने यह पूरा घटनाक्रम अपने फोन पर कैद कर लिया। जिसके बाद इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

आरोपी वीडियो वायरल होने के बाद से ही फरार चल रहा था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ राष्ट्रीय गौरव निवारण अधिनियम की धारा 2 के तहत रिपोर्ट दर्ज की है। बता दें कि इस मामले में विष्णुपुरी गली नंबर 10 रामपुर रोड निवासी कनिष्क ढींगरा पुत्र मुकेश ढींगरा साथियों के साथ कोतवाली पहुंचे और कोतवाल हरेंद्र चौधरी को तहरीर दी। तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की और पड़ताल शुरू हुई। जांच में सामने आया कि तिरंगे का अपमान करने वाला लाइन नंबर 16 बनभूलपुरा निवासी है। जिसकी रफीक साइकिल वर्क्स के नाम से दुकान है। बीते रोज गुरुवार को दुकान खोलने के बाद आरोपी ने साइकिल को साफ करने के लिए तिरंगे का इस्तेमाल किया। इस पूरे घटनाक्रम का किसी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

वीडियो वायरल होते ही कनिष्क ने कोतवाली पहुंच कर तहरीर दी। तहरीर के आधार पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली। रिपोर्ट दर्ज होने की जानकारी मिलते ही आरोपी फरार हो गया। इधर, तलाश में जुटी पुलिस ने आरोपी को मुख्य बाजार से धर दबोचा।

योगेश जोशी के सोशल ग्रुप का लोगों को मिल रहा फायदा

जैसा कि आज के समय मे सोशियल मीडिया का प्रयोग करना हमारी दिनचर्या बन गयी है पर उसमे से कुछ बिरले लोग इसका सही सदुपयोग कर के लोगो के लिए लाभदायक बना रहे है। ऐसे ही मिसाल पेश की है योगेश जोशी जो मूलरूप से ग्राम अमस्यारी (गरुड़) जिला बागेश्वर तथा वर्तमान में हल्द्वानी में रहते है। इन्होंने 5 वर्ष पूर्व फेसबुक व व्हाट्सअप में ’कुमाउनी रिश्ते’ नाम से एक ग्रुप बनाया जिसका मुख्य उद्देश्य है निशुल्क रूप से विवाह हेतु जीवन साथी की तलाश करना है।

क्योंकि आज समाज मे सबसे बड़ी समस्या है कि जब बच्चे विवाह के लायक हो जाते है तो अभिभावकों को रिश्ते तलाशने में बहुत सी परेशानी आती है पहले के समय तो रिश्तेदारी में ही आसानी से रिश्ते मिल जाते थे पर आज स्थिति कुछ अलग है तो इस कारण अभिभावकगण रिश्तों की तलाश के लिए मैरिज ब्यूरो, विवाह से जुड़ी वैबसाइडो या अन्य साधनों से रिश्ते ढूढते है जिस कारण उनका समय व धन खर्च होता है और कई बार ठगी के शिकार भी हो जाते है। इसी को ध्यान में रखकर योगेश जोशी ने फेसबुक व व्हाट्सअप में कुमाउनी रिश्ते नाम का ग्रुप बनाया जो कि वैवाहिक रिश्ते कराने में एक विशाल मंच का रूप ले रहा है तथा लोगो को घर बैठे आसानी से रिश्ते तलाशने में सहायता मिल रही है।
इस ग्रुप में अभी तक 23 हजार से अधिक लोग जुड़े है तथा 160 से अधिक वैवाहिक रिश्ते इस मंच द्वारा तय हो चुके है। वैवाहिक रिश्ते के अलावा इस ग्रुप में समय रहते लोगो को व्रत, पर्व, त्योहारों की जानकारी, जन्मकुंडली मिलान से संबधित विषय मे जानकारी, विवाह आदि शुभकर्मों में मुहूर्त का महत्व व आज लोगो द्वारा मुहूर्त की अनदेखी करना तथा विवाह में स्वागत द्वार पर रिबन काटने जैसी कुप्रथा का विरोध आदि विषयों पर अपने लेख द्वारा लोगो को जागरूक करने की कोशिश की है।

टिकट वितरण से नाराज कार्यकर्ताओं ने दिये सामूहिक इस्तीफे

भारतीय जनता पार्टी के टिकट वितरण के बाद भीमताल विधानसभा में बगावत की शुरुआत हो गई है। भाजपा से टिकट नहीं मिलने से नाराज पूर्व मंडी समिति अध्यक्ष व नैनीताल के भाजपा जिलाध्यक्ष रह चुके मनोज साह समेत 300 कार्यकर्ताओं ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है। सभी ने अपने-अपने इस्तीफे प्रदेश अध्यक्ष और जिलाध्यक्ष को भेजे हैं।
वहीं पूर्व मंडी समिति अध्यक्ष मनोज साह ने कार्यकर्ताओं की राय के बाद निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। साह ने शुक्रवार को अपने 300 से अधिक समर्थकों और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। साह ने कहा कि भाजपा ने विधानसभा से ऐसे उम्मीदवार को टिकट दिया है जो कुछ माह पूर्व ही भाजपा में शामिल हुआ है। साह ने कहा कि पार्टी हाईकमान ने पार्टी से जुड़े कार्यकर्ता को टिकट न देकर मनोबल तोड़ने का काम किया है। इससे आहत होकर वह और सैकडों पदाधिकारियों ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया। साथ ही कार्यकर्ताओं ने उन्हें निर्दलीय चुनाव लड़ाने का ऐलान किया है।
साह ने कहा कि वह अब निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। साथ ही जीत हासिल कर पार्टी को अपनी पकड़ दिखाएंगे। वहीं कार्यकर्ताओं ने भी साह को निर्दलीय चुनाव लड़ाने की बात कही है। ज्ञापन में धारी मंडल अध्यक्ष कैलाश गुणवंत, आलम सिंह नगदली, हिरेश सिंह बिष्ट, इंद्र कुमार मेलकानी, कुंदन सिंह, देवेंद्र सिंह, पान सिंह, रविंद्र कर्नाटक समेत सैकेंडों लोगों के हस्ताक्षर है।

सरिता आर्य की भाजपा में ज्वाइनिंग, कांग्रेस को क्या पड़ेगा फर्क

कांग्रेस छोड़ सरिता आर्य की भाजपा में ज्वाइनिंग के समय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सरिता आर्य के आने से भाजपा नैनीताल जिले में ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश में मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि सरिता आर्य लम्बे समय से महिला उत्थान के लिए काम कर रही हैं। पूरे प्रदेश में उनका एक नेटवर्क है। उस पूरे नेटवर्क का भाजपा को लाभ होने वाला है। उन्होंने कहा कि सरिता आर्य लम्बे समय से महिलाओं के लिए काम कर रही हैं। इसी की बदौलत वह राजनीति में मुकाम हासिल कर पाई हैं। उन्होंने कहा कि इससे निश्चित रूप से भाजपा को सभी क्षेत्रों में लाभ होगा। उन्होंने सरिता आर्य के भाजपा में आने के लिए उनका आभार जताया और कहा कि महिलाओं की सच्ची हितैशी भाजपा ही है।
सरिता आर्य पिछले पांच सालों से नैनीताल विधानसभा सीट पर कार्य कर रहीं थीं। लेकिन, पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके बेटे संजीव आर्य के ज्वाइन करने के बाद उनके टिकट पर संशय बना हुआ था। 2017 के विधानसभा चुनाव में संजीव आर्य नैनीताल विधानसभा सीट से चुनाव जीतकर विधायक बने थे। सूत्रों की मानें तो संजीव 2022 के विधानसभा चुनाव में एक बार फिर नैनीताल विधानसभा सीट से ही चुनाव लड़ेंगे।
वहीं, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि सरिता आर्य भाजपा में बिना शर्त आई हैं। लेकिन उनका उपयोग कैसे किया जा सकता है और उनके बारे में सोचना अब पार्टी का काम है। सरिता आर्य को भाजपा नैनीताल सीट से टिकट देगी या नहीं इस सवाल पर उन्होंने कहा कि टिकट को लेकर पार्लियामेंट्री बोर्ड फैसला करेगा। उन्होंने कहा कि सरिता के आने से भाजपा को मजबूती मिली है। उन्होंने इस दौरान कहा कि कांग्रेस में महिलाओं का सम्मान नहीं होता और इस वजह से उन्हें भाजपा की रीति नितियों के साथ आना पड़ा है।
कौशिक ने कहा कि भाजपा में आने के लिए सरिता ने कोई शर्त नहीं रखी और पार्टी में शामिल होने के लिए पार्टी के अनुसाशन का पालन करना होता है। उन्होंने इस दौरान कहा कि सरिता ने बड़ी संख्या में अपने समर्थकों में भाजपा में आई हैं और इसका विधानसभा चुनावों में बहुत सकारात्मक असर देखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरिता के भाजपा में आने से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है और इससे उनके लड़की हूं, लड़ सकती हूं नारा भी खोखला साबित हो गया है।

दल बदल को तैयार बैठे है सियासी कद्रदान

कांग्रेस पार्टी में पहली सूची जारी होने से पहले ही नैनीताल में पार्टी को बड़ा झटका लग सकता है। इस सीट से दावेदारी पेश कर रही पूर्व विधायक और महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर सकती हैं। सरिता आर्या ने कहा है कि अगर पार्टी में सम्मान नहीं मिलेगा तो उनके सामने दूसरे विकल्प खुले हैं। विश्वस्त सूत्रों के अनुसार, शुक्रवार देर रात उनकी भाजपा नेताओं से मुलाकात हुई। इस मुलाकात में भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रहलाद जोशी, पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक मौजूद थे।
शुक्रवार रात करीब साढ़े दस बजे डालनवाला स्थित भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के फ्लैट में यह मुलाकात करीब एक घंटे चली। बताया जा रहा है कि भाजपा सरिता आर्य को नैनीताल विधानसभा सीट से प्रत्याशी बना सकती है। सरिता कांग्रेस से टिकट की दावेदारी पेश कर चुकी हैं, लेकिन इस सीट पर विधायक रहे संजीव आर्य को पार्टी हाईकमान पहले ही प्रत्याशी बनाने का वादा कर चुका है। संजीव के पार्टी में आने के बाद से ही सरिता आर्य के तेवर तल्ख हैं। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उन्हें मनाने के प्रयास किए, लेकिन वह टिकट से इतर कुछ भी मानने को तैयार नहीं है। बताते चलें कि सरिता आर्य वर्ष 2012 के चुनाव में विधायक बनीं थीं। जबकि वर्ष 2017 के चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। वर्तमान में सरिता प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष हैं।
सूत्र बताते हैं कि ऐसा रणनीति के तहत किया जा रहा है, ताकि टिकट मिलने के बाद किसी के पाला बदलने से फजीहत न हो। कुछ सीटों पर पार्टी अब भी किसी के आने का इंतजार कर रही है। वहीं महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य कहा है कि अगर पार्टी में सम्मान नहीं मिलेगा तो उनके सामने दूसरे विकल्प खुले हैं। मीडिया के सवाल पर आज कांग्रेस मुख्यालय में उन्होंने कहा वह भाजपा का भी दामन थाम सकती हैं।
वहीं एक और बयान में पूर्व विधायक और प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सरिता आर्य ने कहा डालनवाला स्थित जिस बिल्डिंग की बात कही जा रही है, उसमें दूसरे लोग भी रहते हैं। मैं फ्लैट संख्या 27 में शुक्रवार रात अपने एक रिश्तेदार से मिलने गई थी। कांग्रेस पार्टी छोड़ने का मेरा कोई इरादा नहीं है। मुझे तो बाद में पता चला, इस बिल्डिंग में भाजपा के कोई नेता भी रहते हैं।

कोरोना से बचाव और सुरक्षा को लेकर सीएम ने दिए निर्देश

चुनाव अधिसूचना जारी होने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर धामी के निजी दौरे से हल्द्वानी पहुंचे। उन्होंने कोरोना की गाइड लाइन के बीच आम जनता के स्वास्थ्य व सुरक्षा के दृष्टिगत आवश्यक जानकारी भी ली। निजी दौरे पर आए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इसी क्रम में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर हल्द्वानी के सुशीला तिवारी हॉस्पिटल में मरीज़ों से अस्पताल की व्यवस्थाओं की जानकारी लेने के साथ मरीज़ों के तिमारदारों से भी बात की। उन्होने वहाँ मौजूद लोगों से कोरोना व अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं और दवाइयों की उपलब्धता के बारे में भी जानकारी हासिल की। मुख्यमंत्री धामी ने जन औषद्धि केंद्र का निरीक्षण कर जनता को सस्ते दामों में मिल रही दवाइयों की जानकारी भी ली। सुशीला तिवारी हॉस्पिटल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने मुख्यमंत्री को जनपद स्तर पर चल रही स्वास्थ्य सेवाओ की जानकारी भी दी। उन्होने कोविड के खतरों को लेकर आम जनता के स्वास्थ्य सुविधाओं की और विशेष ध्यान देने को भी कहा।
सीएम धामी ने अस्पताल के बाहर सपजजसम उपतंबसमे विनदकंजपवद के द्वारा आम मरीजों व तीमारदारों के लिए 5 रुपये में भोजन सुविधा सेवा में शामिल हुए और इस सेवा कार्यक्रम के संचालन को बारीकी से समझा। इस दौरान मकर संक्रांति के उत्सव पर बनी विशेष खिचड़ी भी ग्रहण करने के साथ प्रदेश की समस्त जनता व उपस्थित जनता को मकर संक्रांति के उत्सव की भी बधाई दी। इसके उपरांत निजी दौरे पर आए प्रदेश के मुख्यमंत्री ने डीआरडीओ द्धारा संचालित कोविड अस्पताल पहुँच कर वहाँ व्यवस्थाओं की जानकारी भी ली। इस दौरान उन्होने अस्पताल में मौजूद सीसीटीवी कैमरों से संस्थान में चल रहे स्वास्थ्य सुविधाओं को भी देखा। विदित हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 दिन पूर्व कोरोना से संबंधित मामलों को लेकर देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ इस दिशा में वर्चुअल बैठक की थी। वही सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को इस महामारी के खतरे से निपटने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन देने के साथ घबराने की नहीं बल्कि सतर्कता बरतने पर विशेष ध्यान देने पर जोर दिया था।

धामी का व्यंग-हरीश रावत को कांग्रेस नहीं लेती सीरियस तो दूसरे क्यों लेंगे

उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी की सक्रियता के सवाल को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि आप उत्तराखंड के लिए ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए खतरा है। वह ऐसी पार्टी है जो सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगती है और सेना पर सवाल उठाती है, ऐसी पार्टी पर ज्यादा कुछ नहीं बोला जा सकता है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को लेकर धामी ने कहा कि उनकी पार्टी खुद उन्हें हल्के में लेती है तो और व्यक्ति उनके बयानों को क्यों महत्व देगा? कांग्रेस पार्टी पहले खुद सीएम का चेहरा तय करे। तभी दूसरों के बारे में बात करें।
मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि भाजपा बड़ी पार्टी है। इसमें दावेदारों की संख्या भी ज्यादा है लेकिन मारामारी जैसी कोई स्थिति नहीं है। रायशुमारी पूरी हो चुकी है। अब पार्लियामेंट्री बोर्ड प्रत्याशियों की घोषणा करेगा।