लोकल रोटेशन व्यवस्था के अध्यक्ष बने हरीश

टीजीएमओ कार्यालय 13 चंद्रेश्वर रोड पर यातायात पर्यटन विकास सहकारी संघ एवं निदेशक मंडल (डायरेक्टर) बोर्ड की बैठक आहूत की गई। जिसमें सर्व सहमति से आगामी लोकल रोटेशन व्यवस्था के संचालन हेतु यातायात पर्यटन विकास सहकारी संघ के संचालक हरीश नौटियाल को अध्यक्ष चुना गया।

यातायात उपाध्यक्ष नवीन रमोला ने कहा हमें पूर्ण विश्वास है की हरीश नौटियाल वाहन स्वामियों की अपेक्षा पर खरा उतरने का (प्रयास) करेंगे एवं समस्याओं का निवारण करेंगे।

बैठक में टीजीएमओ अध्यक्ष जितेंद्र सिंह नेगी, यातायात अध्यक्ष मनोज ध्यानी, यातायात पर्यटन विकास सहकारी संघ उपाध्यक्ष नवीन रमोला, टीजीएममो उपाध्यक्ष यशपाल राणा, निदेशक बलवीर सिंह रौतेला, दाताराम रतूड़ी, प्रेमपाल बिष्ट, मनोज आर्य, मनोहर रौतेला, योगेश उनियाल, रामचंद्र सुयाल, कुंवर सिंह नेगी, जसपाल रौतेला आदि थे।

पीएम के जन्मदिन पर यूथ कांग्रेस ने मनाया बेरोजगार दिवस

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन को युवा कांग्रेस ने राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि भारत में बढ़ती नौकरियों की समस्या, काम की कमी, कारोबार का ठप्प होना और सरकारी संस्थानों का निजी हाथों में चले जाने के कारण आज युवा निराश हो गया है। घटते रोजगार ने कोरोना काल में भारत की 14 करोड़ से ज्यादा आबादी को बेरोजगार बना दिया, जिसका परिणाम है ‘राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस’ आज के दिन मनाया जा रहा है।

कहा कि देश की युवा जनता आज पीएम मोदी को उनके जन्मदिन की बधाई के साथ-साथ देश में बढ़ती बेरोजगारी के लिए भी चेता रही है।

ऋषिकेश में बनाया जायेगा जीआरपी का मुख्‍यालय

कई वर्षों से हरिद्वार में जीआरपी मुख्‍यालय के लिए जमीन उपब्‍ध न होने के कारण अब जीआरपी का मुख्‍यालय ऋषिकेश में बनाया जायेगा। करीब 8 वर्षों से हरिद्वार रेलवे स्टेशन के एक छोटे से कमरे से संचालित मुख्‍यालय को यहां जमीन उपलब्‍ध नहीं करायी जा सकी है। जीआरपी के एसपी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से भूमि उपलब्ध कराने की मांग करने पर मुख्यमंत्री ने जीआरपी को जल्द भूमि उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है। जीआरपी ने इसके लिये बकायदा पत्राचार भी आरंभ कर दिया है। एसपी जीआरपी मंजूनाथ टीसी ने भी ऋषिकेश को जीआरपी मुख्यालय के लिए सबसे उपयुक्त जगह बताया है। आपको बता दें कि ऋषिकेश में योगनगरी रेलवे स्टेशन बन गया है। ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना और डोईवाला-गंगोत्री यमनोत्री परियोजना को देखते हुए भी जीआरपी के अधिकारियों ने योगनगरी रेलवे स्टेशन के आसपास जीआरपी मुख्यालय के लिए जमीन मांगी है।

भाजपा प्रदेश चुनाव प्रभारी दो सदस्यीय टीम के साथ पहुंचे देहरादून

राज्य में विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही सतारुढ़ दल भाजपा ने भी अपनी तैयारियां तेज कर दी है। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री व भाजपा के चुनाव प्रभारी प्रह्लाद जोशी अपने दो दिवसीय दौरे पर आज उत्तराखंड पहुंच गये है। उनके साथ सह प्रभारी लॉकेट चटर्जी और आरपी सिंह भी मौजूद है। चुनाव प्रभारी टीम के राज्य पहुंचने पर जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने उनका स्वागत किया। जिसके बाद रैली के माध्यम से विभिन्न स्थानों में उनका स्वागत करते हुए चुनाव प्रभारी टीम को भाजपा मुख्यालय देहरादून लाया गया।
इस दौरान केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री व भाजपा के चुनाव प्रभारी प्रहलाद जोशी ने कहा कि उत्तराखंड में चुनाव के लिए वह तैयारियों का जायजा लेने के लिए आये है। उन्होंने कहा कि 2017 के चुनाव में भाजपा ने 57 सीटें जीती थी और अब 2022 के चुनाव में 60 से ज्यादा सीटें लाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि संगठन और युवा मुख्यमंत्री के नेतृत्व में यह आकंड़ा भी भाजपा जरुर हासिल करेगी।
वहीं, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने बताया कि चुनाव प्रभारी के दो दिवसीय दौरे में संगठन और सरकार आगामी चुनाव को लेकर कई तैयारियों को अंतिम रुप देगी। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की पार्टी है और कार्यकर्ताओं को जो जिम्मेदारी दी जाती है उसे वे पूरी निष्ठा के साथ पूरा करते है।

सीएम ने अपने जन्म दिन पर प्रदेश को कई सौगातें दी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने 46वें जन्मदिन पर प्रदेश के युवाओं के लिए बड़ी घोषणा की है। उन्होंने मार्च 2022 तक प्रदेश में होने वाली सभी प्रतियोगी परीक्षाओं का आवेदन शुल्क माफ करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक सेवा आयोग, चयन आयोग समेत अन्य भर्तियों के लिए आने वाले फार्म भरने पर युवाओं को कोई फीस नहीं चुकानी होगी। मुख्यमंत्री यह घोषणा बाल वनिता आश्रम में बच्चों के साथ अपना जन्म दिवस मनाते हुए की। यहां उन्होंने वृक्षारोपण कर बच्चों को मिष्ठान भी वितरित किया।
इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने जन्मदिन पर दिन की शुरुआत टपकेश्वर महादेव मंदिर में पूजा अर्चना कर की। इसके बाद मुख्यमंत्री राष्ट्रीय दृष्टिबाधित दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान पहुंचे। यहां उन्होंने दृष्टिबाधित बच्चों के साथ अपना जन्म दिवस मनाया। इस अवसर पर उन्होंने संस्थान में बच्चों को स्कूल बस की व्यवस्था और 10 कम्प्यूटर देने की घोषणा भी की।

छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की धमकी देने पर निकली आक्रोश रैली

पीजी कॉलेज ऋषिकेश (श्री देव सुमन कैम्प्स) में छात्र – छात्राओं के खिलाफ F.I.R. दर्ज करने की धमकी व अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के लिए छात्रों द्वारा कॉलेज में जन आक्रोश रैली निकाली गई।
छात्र नेता हिमांशु जाटव व अनिरुद्ध शर्मा ने कहा कि छात्र हितों की हर हक की लड़ाई लड़ी जाएगी और प्राचार्य द्वारा प्रशासन को छात्र छात्राओं के बीच ला कर तानाशाही दिखाई गई जिसके छात्रसंघ पूर्ण रूप से विरोध करते है छात्र छात्राओं के हक के लिए छात्रसंघ किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है इसलिए आज पूरे कॉलेज कैंपस में कॉलेज प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर प्रवेश प्रक्रिया बंद कर वीसी को से बात करने के मांग की।
धरने में पूर्व महासंघ महासचिव संजीत कुमार, पूर्व छात्रसंघ सचिव ऋषभ जैन, रोहित सोनी, आयूष चौहान, राजू, विनीत रतूड़ी, रोहित नेगी, अनुज पाल, अब्दुल, साक्षी तिवारी, सिमरन अरोड़ा, गरिमा, यश अरोड़ा, नीतीश चमोली, मोहित मौर्य, अमन पांडेय, निशांत बागड़ी, कुनाल वाल्मीकि, आकाश उनियाल, विशाल भारती आदि छात्र छात्राएं मौजूद रहे।

सोमेश्वर नगर में जनता मिलन समारोह, विकास कार्यों के लिए स्पीकर ने की सात लाख की घोषणा

ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के सोमेश्वर नगर वार्ड 21 में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने जनता मिलन कार्यक्रम के दौरान कमलेश्वर महादेव मंदिर के टीन शेड के लिए विधायक निधि से 6 लाख जबकि चामुंडा मंदिर के टीन सेड निर्माण के लिए के 1 लाख रुपये विधायक निधि से देने की घोषणा की।

उन्होंने कहा है कि शहर के अंदर 40 वर्ष पुरानी पाइप लाइन को जनसंख्या के घनत्व के हिसाब से परिवर्तित करने के लिए व्यापक स्तर पर कार्य योजना तैयार की जा रही है ताकि लोगों को शुद्ध पेयजल आपूर्ति प्राप्त हो सके । कहा कि 40 वर्ष पूर्व जनसंख्या का घनत्व भी कम था। समय अधिक होने के कारण पुरानी लाइनें जर्जर हो चुकी है उन्हें आने वाले समय में नई लाइनों के रूप में परिवर्तित किया जाएगा ।उन्होंने कहा है कि ऋषिकेश में पर्यटकों का बड़ी संख्या में आवागमन होता है इसलिए पानी की आपूर्ति भी अधिक होती है।
कहा कि विकास के लिए धन की कमी को आढे नहीं आने दिया जाएगा। उन्होंने कहा है कि जिन योजनाओं का कार्य चल रहा है वह समय सीमा के अंतर्गत पूरी होगी, गुणवत्ता के लिए अधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है।
इस अवसर पर सोमेश्वर नगर वार्ड नंबर 22 की पार्षद राधा रमोला ने नंदू फार्म में पानी भरने की समस्या के निजात के लिए 3 करोड़ की योजना से समाधान करने पर विधानसभा अध्यक्ष का आभार व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने कहा है कि नगर निगम से विकास की योजना धरातल पर नहीं उतर रही है उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से आग्रह करते हुए कहा है कि विकास के कार्यों के लिए नगर निगम क्षेत्र में भी धनराशि उपलब्ध करवाएं।
इस अवसर पर सोमेश्वर नगर समिति के अध्यक्ष मुरारी सिंह राणा, सचिव दिलीप सिंह बिष्ट, पार्षद राधा रमोला, पूरन सिंह पवार, मंडल अध्यक्ष दिनेश सती, बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ की प्रदेश संयोजिका श्रीमती सरोज डिमरी, प्यारेलाल जुगलान, महिला मोर्चा के मंडल अध्यक्ष उषा जोशी, मीना रावत, बीना देवी, सुनील साहू, अरुण शर्मा, चैत सिंह नेगी, मान सिंह वर्मा, पूर्व मंडल अध्यक्ष प्रदीप धसमाना, बृजेश, टिंकू, मीना रावत, राजबाला, केशव राम जोशी ,रवि शर्मा , मनोज थापा, नरेश शर्मा, आदि लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मंडल महामंत्री सुमित पवार द्वारा किया गया।

आध्यात्मिक राजधानी को लेकर कर्नल कोठियाल ने कि संत समाज से मुलाकात

आम आदमी पार्टी ने उत्तराखंड को आध्यात्मिक राजधानी बनाने का रोड़ मैप तैयार कर लिया है। इस पर रायशुमारी के लिए पार्टी के मुख्यमंत्री का चेहरा रिटार्यड कर्नल अजय कोठियाल ने पार्टी के एक प्रतिनिधि मंडल के साथ महामंडलेश्वरों एवं जगतगुरु शंकराचार्य से मुलाकात की।

कर्नल कोठियाल ने बताया कि देवभूमि उत्तराखंड को आध्यात्मिक राजधानी बनाने के लिए फुल प्रूफ प्लान तैयार है। इसके लिए वर्कआउट शुरू कर दिया गया है।पार्टी ने वेबसाइट लॉन्च करते हुए अब लोगों से इसमें रजिस्ट्रेशन करने की अपील भी की है। उन्होंने संत समाज को बताया पार्टी का मकसद अध्यात्म से जोड़कर लोगों को रोजगार दिलाना है। कोठियाल ने कहा कि देवभूमि उत्तराखंड पूरे विश्व में धार्मिक स्थलों के लिए प्रसिद्ध है। आप के सुप्रीमो दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने देवभूमि उत्तराखंड को पूरे विश्व की आध्यात्मिक राजधानी बनाने की बात कही थी, अब उसे पूरा करने का समय आ चुका है।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य में बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के अलावा कुंभ नगरी हरिद्वार, प्रसिद्ध शक्तिपीठ मां धारी देवी मंदिर, पाताल भुवनेश्वर मंदिर, गोलू देवता, तुंगनाथ, रुद्रनाथ, गोपीनाथ, जोशीमठ में नरसिंह भगवान का मंदिर, महासू देवता, बाबा विश्वनाथ मंदिर समेत कई तीर्थस्थल ऐसे हैं, जिनका ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व है।गंगा और यमुना का उद्गम उत्तराखंड से ही होता है और प्रसिद्ध योगनगरी ऋषिकेश भी उत्तराखंड में ही है।उन्होंने कहा कि राजा भरत की जन्मस्थली कण्वाश्रम भी इसी उत्तराखंड के कोटद्वार में है। यानी पूरा उत्तराखंड धर्म और अध्यात्म का जीवंत प्रमाण है, जिससे कोई भी अनभिज्ञ नहीं है। आध्यात्मिक राजधानी के संकल्प का मतलब इन समस्त धार्मिक स्थलों में विश्वस्तरीय सुविधाएं विकसित करना है, ताकि यहां आनेवाले श्रद्धालुओं को तमाम सुविधाएं मिल सकें और वे बार-बार उत्तराखंड आते रहें। इससे जहां एक ओर उत्तराखंड की ख्याति पूरे विश्व में बढ़ेगी, वहीं रोजगार के भी कई अवसर पैदा होंगे। जिसका लाभ स्थानीय युवकों को मिलेगा।

इससेे पूर्व कर्नल कोठियाल ने विश्व प्रसिद्ध भारतमाता मंदिर के दर्शन किए।इसकेे प्रश्चात उन्होंने नरसिंह देवता मंदिर में माथा टेक महामंडलेश्वर ललितानंद गिरी महाराज से आश्रीवाद लिया।उसके बाद कनखल स्तिथ श्री जगतगुरु आश्रम जाकर जगतगुरु शंकराचार्य राजराजेश्वर महाराज से आश्रीवाद लिया। ततपश्चात वह दक्षिण कालेश्वर मंदिर पहुँचे जहां उन्होंने निरंजन पीठादीश्वर महामंडलेश्वर आचार्य कैलाशानंद महाराज से भेंटकर आश्रीवाद लिया।इस मौके पर उत्तराखंड सह प्रभारी राजीव चौधरी, चुनाव केपेनिंग प्रदेश अध्यक्ष दीपक बाली,आप बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ राजे सिंह नेगी,विक्रांत भारद्वाज,रंजीत नेगी,देवेंद्र बिष्ट मौजूद रहे।

टैक्सी टैक्सी संचालकों ने एसडीएम के माध्यम से सीएम को भेजा ज्ञापन

संयुक्त रोटेशन टैक्सी मैक्सी संचालक समिति ऋषिकेश/ लक्ष्मण झूला के तत्वावधान में विभिन्न परिवहन संस्थाओ के प्रतिनिधियों ने उप जिलाधिकारी ऋषिकेश के माध्यम से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को ज्ञापन प्रेषित कर राज्य में बंद पड़ी चार धाम यात्रा को अति शीघ्र संचालित करने की मांग की। इस अवसर पर गढ़वाल मंडल टैक्सी चालक व मालिक एसोसिएशन के अध्यक्ष विजयपाल सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंड में रोजगार के संसाधन परिवहन और पर्यटन पर आधारित है।

राज्य सरकार को कोरोना गाइडलाइन का अनु पालन कराते हुए चार धाम यात्रा अति शीघ संचालित करने हेतु आवश्यक कार्यवाही अमल में लानी चाहिए, चार धाम यात्रा प्रारंभ ना होने की दशा में राज्य सरकार को अविलंब परिवहन एवं पर्यटन सेक्टर को बीमार घोषित कर उचित राहत पैकेज घोषित करना चाहिए।

ज्ञापन देने वालों में गढ़वाल मंडल टैक्सी चालक एवं मालिक एसोसिएशन ऋषिकेश के अध्यक्ष विजयपाल सिंह रावत, सचिव विजेंद्र कंडारी, उप प्रधान नरेंद्र वर्मा, ऋषिकेश डीलक्स टैक्सी मैक्सी ओनर एसोसिएशन के अध्यक्ष हेमंत डग, सचिव ललित सक्सेना, सह सचिव अर्पित राजपूत, मोहनलाल, जीप कमांडर एसोसिएशन ऋषिकेश के पूर्व अध्यक्ष भगवान सिंह राणा, इनोवा टैक्सी मैक्सी एसोसिएशन के अध्यक्ष जयप्रकाश नारायण, कार्यकारिणी अध्यक्ष अवतार सिंह भगत, सचिव नवीन सेमवाल, कोषाध्यक्ष बूटा सिंह, सरदार कुलदीप सिंह आदि शामिल थे।

तीन संतुष्टि मंत्रों से व्यापार जगत की होंगी समस्यायें दूर-सीएम

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को देहरादून में औद्योगिक संस्थानों एवं संगठनों के साथ आयोजित संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार सरलीकरण, समाधान व निस्तारण के मंत्र को लेकर काम कर रही है। हम उद्योगों से जुड़े लोगों की समस्याओं का सरलीकरण कर समाधान करेंगे और साथ ही उनकी समस्याओं का निस्तारण भी होगा। उद्योगों की संतुष्टि का हमारा प्रयास है। उत्तराखंड में जितने भी उद्योग स्थापित हुए है, उनकी समस्याओं को दूर कर उन्हें विकास और ग्रोथ के हर अवसर दिए जायेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्व. अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा राज्य को दिये गये औद्योगिक पैकेज से प्रदेश में बड़ी संख्या में उद्योगों की स्थापना हुई है। भविष्य में राज्य में और अधिक उद्योग स्थापित हों इसके लिये हमारे उद्यमी ही हमारे ब्राण्ड एम्बेसडर रहेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में देश-विदेश से उद्योगपति आये इसमें हमारे उद्यमियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। राज्य का वातावरण पूर्णतः उद्योगों के अनुकूल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सम्पूर्ण देश में भी यह संदेश जाना चाहिए कि उत्तराखंड उद्योगों के लिए एक श्रेष्ठ डेस्टिनेशन है। उन्होंने कहा कि सरकार और उद्योगपतियों के बीच लगातार संवाद कायम रहेगा।
उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री हमेशा उत्तराखण्ड के विकास को प्राथमिकता देते हैं। आज उत्तराखंड में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। परिवहन, कनेक्टिविटी और इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में उत्तराखंड में तेजी से काम हो रहा है। कोरोना काल मे हर किसी के लिए समस्या पैदा हुई। लेकिन सरकार ने कोविड प्रभावित अर्थव्यवस्था को मज़बूती देने के लिए कई निर्णय लिए है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले 10 सालों में उद्योग के क्षेत्र में उत्तराखंड देश का नंबर वन राज्य बने, इसके लिये हम प्रयासरत हैं। इसमें उद्योगों को भी सहयोगी बनना होगा। राज्य सरकार सभी के सहयोग के लिये है। अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिये भी बड़ी संख्या में उद्योगों की स्थापना जरूरी है। इसके लिये जो बेहतर होगा वह किया जायेगा। राज्य के सभी क्षेत्रों के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी के लिये सड़क एवं हवाई सेवाओं की बेहतर सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है।
राज्य में उद्योगों की बेहतरी के लिये ऊर्जा, चिकित्सा, परिवहन, राजस्व, वन आदि विभागों को आपसी समन्वय से कार्य करने के निर्देश दिये गये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में कोरोना से बचाव के लिये हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की मजबूती पर ध्यान दिया गया है। आगामी दिसम्बर तक राज्य के सभी लोगों का वैक्सीनेशन कर दिया जायेगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग के वार्षिक प्रतिवेदन का भी विमोचन किया।
उद्योग मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि प्रदेश के विकास में उद्योगों की बड़ी भूमिका है। बड़ी संख्या में उद्योग रोजगार के भी माध्यम हैं। राज्य सरकार उद्योगों के हित में निरंतर प्रयासरत है। उद्योगों से आपसी संवाद के माध्यम से उनकी समस्याओं का समाधान किया जायेगा। यह प्रक्रिया निरंतर चलती रहेगी।
मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. सन्धु ने कहा कि राज्य सरकार संवेदनशीलता के साथ उद्योगों के हित में कार्य कर रहे है। खनन आदि नीतियों को पब्लिक डोमेन में डाला जा रहा है, ताकि सभी के सुझावों पर ध्यान देते हुए बेहतर नीतियां तैयार हो सके। उन्होंने कहा कि उद्योगों के हित में सेल्फ सर्टिफिकेशन की व्यवस्था 10 साल के लिये की जा रही है। उद्योगों को भी विश्वास एवं ईमानदारी का वातावरण बनाने में सहयोगी बनना होगा। उन्होंने कहा कि औद्योगिक संगठनों द्वारा दिये गये सुझावों पर शीघ्र कार्यवाही कर समस्याओं का समाधान किया जायेगा।
सचिव उद्योग राधिका झा ने औद्योगिक संगठनों से हुई वार्ता का उल्लेख करते हुए कहा कि प्राप्त सुझावों के निराकरण का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मेगा इंडस्ट्रियल पॉलिसी, एक्सपोर्ट पॉलिसी, टेक्सटाइल पॉलिसी के साथ ही अवस्थापना विकास, पर्यावरण व राजस्व से सम्बन्धित समस्याओं के समाधान के लिये जिला उद्योग मित्र तथा सिंगल विंडो सिस्टम को भी प्रभावी बनाया जायेगा।
इस संवाद कार्यक्रम में पीएचडीसीसीआई, केजीसीसीआई, सीआईआई, आईएयू सिडकुल मैन फोर्स एसोसिएशन, टूरिज्म एसोसिएशन आदि के प्रतिनिधि उपस्थित थे। सभी ने राज्य सरकार के इस प्रकार के प्रयासों की सराहना करते हुए सरकार को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, सचिव अमित नेगी, शैलेश बगोली, नितेश झा, सचिन कुर्वे, बी.वी.आर.सी. पुरुषोत्तम आदि उपस्थित थे।