केन्द्रीय कैबिनेट का निर्णय, धारचूला में महाकाली नदी पर बनेगा पुल

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में संपन्न कैबिनेट बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के संबंध में अनुराग ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि भारत द्वारा धारचूला में महाकाली नदी पर पुल का निर्माण किया जाएगा। उक्त संबंध में शीघ्र दोनों देशों के मध्य एमओयू साइन किया जाएगा। उक्त पुल का निर्माण 3 वर्षों में पूर्ण किया जाएगा।
धारचूला में भारत-नेपाल के मध्य पुल निर्माण से धारचूला के सीमांत निवासियों के साथ-साथ सीमान्त नेपाली नागरिकों को भी फायदा होगा जिससे भारत-नेपाल के रोटी-बेटी एवं व्यापारिक संबंधों को मजबूती मिलेगी।
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारत सरकार का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि इससे भारत व नेपाल के रिश्ते और मजबूत होंगे।
उल्लेखनीय है छारछुम (धारचूला) व धाप (नेपाल) के मध्य लगभग 110 मीटर टू-लेन सड़क पुल के निर्माण हेतु पीडब्ल्यूडी द्वारा मिट्टी की जांच/हाइड्रोलॉजी विश्लेषण हेतु डीपीआर, आईआईटी दिल्ली को भेजी गई थी।

गंगोलीहाट विधानसभा को सीएम ने दी करोड़ों रुपये की योजनाओं की सौगात

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को गंगोलीहाट, पिथौरागढ़ में 21 करोड़ 57 लाख रुपए के 6 कार्यों का शिलान्यास एवं 1 करोड़ 39 लाख की लागत के जीआईसी दशाईथल, गंगोलीहाट का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के विकास हेतु विभिन्न घोषणाएं की। उन्होंने विकासखंड बेरीनाग के ग्राम बेलकोट-उपराडा सड़क को शहीद चारुचंद्र और विकासखंड गंगोलीहाट में जरमाल गांव से कनारा सड़क को वीर चक्र विजेता शहीद शेर सिंह के नाम से कराए जाने की घोषणा की। इसके अतिरिक्त गणाई बनकोट मोटर मार्ग का डामरीकरण एवं सुधारीकरण किए जाने, डंगोली सैलानी-दाडिमखेत-धरमघर, कोटमन्या-पाँख, थल-सातशिलिंग मोटर मार्ग में सुधारीकरण एवं हॉटमिक्स का कार्य अवशेष की घोषणा, बासपटान ग्वाल मोटर मार्ग सेतु सहित (5 कि०मी०) की घोषणा, थर्प बडेत बाफिला मोटर मार्ग के कि०मी० 2 से कमदीना बगदोली बजेत मोटर मार्ग का निर्माण (4 कि०मी०) की घोषणा, मधनपुर काकडा मोटर मार्ग (3 कि०मी०) की घोषणा, पाताल भुवनेश्वर से चौडमन्या मोटर मार्ग (5 कि०मी०) की घोषणा। मडकनाली सुरखाल पाठक मोटर मार्ग का निर्माण, बोगटा से खतीगंव तल्लीसार मोटर मार्ग, चमलेख इंटर कालेज का जीर्णाेद्धार, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बेरीनाग में विभिन्न चिकित्सा विशेषज्ञ की तैनाती, चौंलेखवसे क्लोन तक मोटर मार्ग का शीघ्र निर्माण, ड्युड हडाकोट से बड़ेना मोटर मार्ग का शीघ्र निर्माण, गंगोलीहाट में अगले सत्र से पशु चिकित्सा महाविद्यालय खोले जाने की घोषणा समेत क्षेत्र के विकास के लिए विभिन्न घोषणाएं की।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मां हाट कालिका के दर्शन कर उन्हें असीम शक्ति एवं शांति की अनुभूति हुई। मां हाट कालिका से मिले संरक्षण के कारण ही आज हम इतनी लगन और समर्पण के साथ उत्तराखण्ड की सेवा कर पा रहे हैं। इसी सिद्ध स्थान पर आदि गुरू शंकराचार्य जी द्वारा मां देवी की स्तुति करने के लिए देवी अपराध क्षमा स्रोत ’’न मत्रं नो यन्त्रं’’ की रचना की थी। जिसमें वर्णित ’’कुपुत्रो जायेत क्व चिदपि कुमाता न भवति’’ अर्थात पुत्र कुपुत्र हो सकता है, परन्तु माता कुमाता कभी नही हो सकती, जैसी सारगर्भित पंक्ति हमारी संस्कृति का दृष्टि सूत्र है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भूमि जहां वीरों की भूमि रही है, विद्वानों की भूमि रही है, वहीं महान ज्योतिषाचार्यों की भी भूमि रही है। गंगोलीहाट क्षेत्र जहां अपनी ऐतिहासिक पृष्ठभूमि को समेटे हैं, वहीं पर्यटन की दृष्टि से भी अत्यन्त महत्वपूर्ण है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा उत्तराखण्ड के समग्र विकास के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। सरकार का निरंतर ये प्रयास रहा है कि जनभावनाओं के आधार पर फैसले हों, जन समस्याओं का समाधान सरकार की शीर्ष प्राथमिकता रही है। हर विभाग से अगले दस साल का रोड मैप मांगा गया है, ताकि भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप राज्य के विकास का खाका खींच सकें। सरकार ने बोधिसत्व विचार श्रृंखला कार्यक्रम को भी शुरू किया है जिसके अंतर्गत सरकार विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर चुके अनुभवी व्यक्तियों से सुझावों को लेकर योजनाएं बना रही है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में केन्द्र सरकार से राज्य को पूरा सहयोग मिला है। सड़क, रेल एवं हवाई कनेक्टिविटी का राज्य में तेजी से विस्तार हो रहा है। कई ऐसे बहुआयामी प्रोजेक्ट हैं जिन पर योजनाबद्ध तरीके से काम जारी हैं और जो भविष्य में उत्तराखण्ड की उन्नति के आधार स्तंभ बनेंगे। वर्ष 2025 में राज्य जब अपनी स्थापना के 25 वर्ष पूर्ण करेगा, तब तक उत्तराखण्ड को हर क्षेत्र में देश का अग्रणी राज्य बनाने की दिशा में प्रयास किये जा रहे हैं।
इस अवसर पर मंत्री पेयजल ग्रामीण निर्माण विभाग बिशन सिंह चुफाल, विधायक गंगोलीहाट मीना गंगोला, अध्यक्ष जिला पंचायत दीपिका बोहरा, जिलाध्यक्ष भाजपा वीरेन्द्र वल्दिया, ब्लॉक प्रमुख गंगोलीहाट अर्चना गंगोला, बेरीनाग विनीता बाफिला, धारचूला धन सिंह धामी जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान, पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह आदि उपस्थित रहे।

सैनिक सम्मान कार्यक्रम में राजनाथ ने फिर की धामी की प्रशंसा

केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को पिथौरागढ़ के मूनाकोट में शहीद सम्मान यात्रा का शुभारम्भ किया एवं इस अवसर पर शहीद सैनिकों के परिजनों को किया गया सम्मानित भी किया।
केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शहीदों को नमन करते हुए कहा कि हमारी सांस्कृतिक परम्परा है कि जो देश के लिए अपनी जिंदगी न्यौछावर करते हैं, उनको देवतुल्य माना जाता है। जननी और जन्मभूमि दोनों स्वर्ग के समान होते हैं। उत्तराखण्ड, देवभूमि, तपोभूमि और वीरभूमि है। उत्तराखण्ड में पांचवा धाम सैन्यधाम बन रहा है। सैन्यधाम में शहीद सैनिकों की आंगन की मिट्टी आयेगी और भविष्य में भी जो वीर सपूत देश के लिए शहीद होगें, उनके आंगन की मिट्टी भी सैन्यधाम में लाई जायेगी। सैन्यधाम में इस तरह की व्यवस्था हो कि सभी शहीदों के नाम और गांव का नाम सैन्य धाम में अंकित हो। उत्तराखण्ड की हर गली, हर शहर अपने में पवित्र है। उत्तराखण्ड में सैन्यधाम का निर्माण एक अच्छी सोच है।

1962 भारत-चीन युद्ध में कुमाऊं बटालियन के जवानों ने किया करिश्माई काम
केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने कहा कि कुछ दिन पूर्व मुझे पीठसैंण में वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की प्रतिमा का अनावरण करने का सौभाग्य मिला। रेजांग-ला पर जो उत्साह देखा वह अद्भुत था। 1962 भारत-चीन युद्ध में कुमाऊं के 13वीं बटालियन के 124 जवानों जो करिश्माई काम किया, उसे भारत कभी भूल नहीं सकता। जब हमने उनके शौर्य और पराक्रम की गौरव गाथा सुनी तो मैंने वहां जाने का निर्णय लिया। वहां भव्य स्मारक बनाया गया है। भारत के हर नागरिक के मन में शहीदों के परिवारों के प्रति एक सम्मान का भाव होना चाहिए।
केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारे पूर्व सैनिकों की जो वन रैंक वन पेंशन की समस्या थी उसका समाधान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया। सैनिकों एवं उनके परिवारों की समस्याओं के लिए सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किये गये हैं। बैटल कैजुवल्टी को 02 लाख से बढ़ाकर 08 लाख रूपये किया गया है। पूर्व सैनिकों की भी हर समस्या का समाधान करने के लिए सरकार द्वारा लगातार प्रयास किये गये हैं। सैनिकों के सम्मान के लिए जो भी करना होगा, सरकार हमेशा उसके लिए तत्पर है। आजादी के 75 वर्ष पूरे हो रहे हैं, भारत आजादी धूमधाम से अमृत महोत्सव मना रहा है। रानी लक्ष्मीबाई की जयंती पर झांसी में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कर रहे हैं ताबड़तोड़ बैटिंग-केन्द्रीय रक्षा मंत्री
केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने प्रदेश एवं जनहित में 4 माह में 400 से अधिक निर्णय लेने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ताबड़तोड़ बैटिंग कर रहे हैं। अभी तो मुख्यमंत्री 20-20 मैच खेल रहे हैं। इनका पांच साल का टेस्ट मैच होना चाहिए। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी महेन्द्र सिंह धोनी की तरह अच्छे फिनिशर हैं। केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में रूद्रपुर, हरिद्वार एवं पिथौरागढ़ में मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं। उत्तराखण्ड में सड़क, रेल एवं हवाई कनेक्टिविटी का तेजी से विस्तार हुआ है। लिपुलेख-धारचूला-मानसरोवर जाने का रास्ता बन गया है। सांस्कृतिक दृष्टि से यह रास्ता बहुत महत्वपूर्ण है। भारत और नेपाल के बीच रोटी और बेटी का रिश्ता है।

पिथौरागढ़ जनपद हमेशा से रणबांकुरों की भूमि रही-सीएम
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देश की एकता, अखण्डता एवं रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान देने वाले शहीदों को नमन करते हुए कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मुझे आज अपनी जन्मभूमि सौर घाटी की धरती को नमन करने का अवसर मिला है। उन्होंने सैनिकों के हित में लिए जा रहे निर्णयों एवं उनका उत्साह बढ़ाने के लिए किये जा रहे सराहनीय प्रयासों के लिए केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिथौरागढ़ जनपद हमेशा से रणबांकुरों की भूमि रही है। उत्तराखण्ड सैनिक बहुल प्रदेश है। वीर भूमि पिथौरागढ़ में वीर सैनिकों के परिजनों एवं वीरांगनाओं का सम्मानित कर हम सब सम्मानित हो रहे हैं। राज्य सरकार द्वारा जनहित एवं प्रदेशहित में अनेक निर्णय लिये गये हैं। सभी रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाई गई है। हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं। सभी की समस्याओं का समाधान करने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।

सभी वर्गों को ध्यान में रखते हुए राज्य में हो रहे हैं कार्य
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वस्थ युवा स्वस्थ उत्तराखण्ड योजना उत्तराखण्ड में शुरू की जा रही है, जिसके तहत प्रत्येक ग्राम सभा में एक जिम खोला जायेगा। इसका शासनादेश हो चुका है। आपदा के समय केन्द्र सरकार का राज्य को पूरा सहयोग मिला। सेना के 3 सेना के हेलीकॉप्टर केन्द्र सरकार से उत्तराखण्ड भेजे गये, इससे हम 500 से भी अधिक लोगों की जान बचा पाये। इस वर्ष राज्य में बरसात ने कई रिकॉर्ड तोड़े, लेकिन सरकार, शासन एवं प्रसाशन के प्रयासों से जान मान का नुकसान नहीं हुआ। सभी को मौसम के पूर्वानुमान पर अलर्ट किया गया। आपदाग्रस्त क्षेत्रों का हमने लगातार दौरा किया एवं जन समस्याओं के समाधान के लिए हर संभव प्रयास किये गये। कोविड के दौरान प्रभावितों के लिए राहत पैकेज देने का कार्य राज्य सरकार द्वारा किये गये।

2025 तक उत्तराखण्ड को हर क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाया जायेगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की अपेक्षानुसार हमारा लक्ष्य है कि 2025 में हम उत्तराखण्ड को देश का हर क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनायेंगे। उन्होंने इस अवसर पर केन्द्रीय रक्षा मंत्री से अनुरोध किया कि पिथौरागढ़ क्षेत्र में पहले बी.आर.ओ. काम करता था, जो यहां से शिफ्ट हो गया, इस बी.आर.ओ. केन्द्र की यहां पर पुनः स्थापना होनी चाहिए। यह सैनिक बहुल एवं सीमांत क्षेत्र है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद सम्मान यात्रा का पहला शुभारम्भ सवाड़ मे किया गया। सवाड़ में केन्द्रीय विद्यालय की लंबे समय से मांग है, उसके लिए सभी औपचारिकताएं पूर्ण कर केन्द्रीय विद्यालय खोलने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा जायेगा। सवाड़ में स्मारक की देखरेख के लिए कर्मचारियों की व्यवस्था की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुराने सैनिक स्मारकों के जीर्णाेधार एवं जनपद पिथौरागढ़ में नये सैनिक विश्राम गृह के लिए धनराशि तत्काल जारी की जायेगी।
सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि जिस प्रकार सैनिक सीमाओं में रहकर देश की रक्षा करता है तथा देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर कर देता है, इससे बड़ा बलिदान और कुछ नहीं हो सकता है। यह भूमि वीरों की भूमि है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि उत्तराखण्ड में 5वें धाम के रूप में सैन्यधाम होना चाहिए। देहरादून में भव्य सैन्यधाम बनाया जा रहा है।
केन्द्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि शहीद सम्मान यात्रा वीर सैनिकों के सम्मान को बढ़ाने का कार्य कर रही है। देश की रक्षा के लिए उत्तराखण्ड के जवानों ने हमेशा अपना सर्वस्व अर्पित किया है। यह देवभूमि के साथ ही वीर भूमि भी है।

जौलजीवी मेले का सीएम धामी ने किया शुभारंभ, विपक्षी विधायक हरीश धामी भी रहे मौजूद

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को काली एवं गोरी नदी के संगम पर स्थित जौलजीवी में प्रसिद्ध ऐतिहासिक, पारंम्परिक एवं व्यापारिक जौलजीवी मेले का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने मेले में विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनियों का अवलोकन भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेला हमारी बहुत बड़ी सास्कृतिक धरोहर हैं। मेले धार्मिक एवं सांस्कृतिक पर्यटन को बढ़ावा देते हैं। जौलजीवी मेले को और अधिक विकसित एवं सुविधायुक्त बनाया जाएगा। जौलजीवी मेला भारत नेपाल के मैत्री संबंधों को भी बढ़ाता है। मेले हमारी धरोहर एवं संस्कृति के द्योतक हैं, उन्हें हमें आगे बढ़ाते हुए जीवित रखना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड सरकार द्वारा विगत 4 महीनों में प्रदेश के हित में 400 से अधिक फैसले लिए हैं। इन सभी फैसलों का शासनादेश भी जारी हो चुके हैं। जो भी घोषणाएं की गई हैं उन्हें धरातल पर उतारा जा रहा है। उन्होंने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मैंने इस भूमि में जन्म लिया है। मैं यहाँ जब भी आता हूँ, लोगों का अपार स्नेह मिलता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनहित में सरकार ने अनेक निर्णय लिए हैं। उन्होंने कहा कि अतिथि शिक्षकों का मानदेय 15 हजार से 25 हजार रुपए प्रतिमाह किया है। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का मानदेय भी बढ़ाया गया है। जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए कार्य किए जा रहे हैं। प्रदेश में महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत किये जाने हेतु महिला समूहों को आर्थिक रूप से सहयोग प्रदान हेतु 3 से 5 लाख तक का ऋण शून्य प्रतिशत ब्याज पर दिया जा रहा है। इसके परिणाम स्वरूप आज ये महिला समूह अन्य को भी रोजगार प्रदान कर रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र की महत्वपूर्ण बरम से कनार तक सड़क का निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जाएगा। कोरोना काल में अनेक समस्याएं आई। सरकार द्वारा प्रभावितों को हर संभव सहायता दी जा रही है। स्वयं सहायता समूहों हेतु 119 करोड़ का पैकेज घोषित किया गया है। 5 लाख तक का ऋण शून्य ब्याज पर दिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त परिवहन एवं पर्यटन के क्षेत्र में कार्य कर रहे व्यक्तियों को भी आर्थिक सहायता हेतु 200 करोड़ रुपये का पैकेज जारी करते हुए उनके खाते में डीबीटी के माध्यम से धनराशि जमा की जा रही है। आशा,उपनल कर्मी,ग्राम प्रधानों के हित में फ़ैसले लिए गए हैं। प्राथमिक एवं सामुदायिक चिकित्सालय में भी अनेक स्वास्थ्य की जांचें मुफ्त में की जा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा राहत के सभी मानकों में धनराशि बढ़ाए जाने हेतु भी भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है। राज्य स्तर पर पूर्व में आपदा के दौरान घर पर पानी आ जाने और आंशिक नुकसान पर जो 3800 रुपये दिए जाते थे अब उसे बढ़ाकर 5000 कर दिया गया है। भवन क्षति की धनराशि भी 1 लाख 1900 से बढ़ाकर अब 1 लाख 50 हजार कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वर्ष आने वाली आपदाओं की रोकथाम हेतु राज्य में एक आपदा अनुसंधान संस्थान खोले जाने हेतु भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है।
मुख्यमंत्री द्वारा इस अवसर पर क्षेत्र के विकास हेतु विभिन्न घोषणाएं की गई। उन्होंने घोषणा की कि चामी से मेतली तक मोटर मार्ग का निर्माण किया जाएगा। जौलजीवी में स्वास्थ्य केन्द्र का निर्माण किया जाएगा। जौलजीवी से वनराजि जनजाति बस्ती गानागांव-पचकाना-ढुंगातोली तक सड़क का निर्माण किया जाएगा। मवानी-दवानी से मणिधामी मोटर मार्ग निर्माण किया जाएगा। बसन्तकोट से मुन्नगरधार-उछति-लिलम तक मोटर मार्ग का निर्माण किया जाएगा। सिंमगड नदी के दाई ओर स्थित घटन (नाचनी) बाढ़ सुरक्षा हेतु तटबंध निर्माण किया जाएगा। मुनस्यारी बरार गाड़ के बाईं ओर खेत भराड़ गांव में बाढ़ सुरक्षा हेतु तटबंध निर्माण किया जाएगा। एलोपैथिक चिकित्सालय तेजम का उच्चीकरण किया जाएगा। मल्लधार से मडलकिया तक मोटर मार्ग का निर्माण किया जाएगा। बलमरा से बसोरा-सल्याडी मोटर मार्ग का निर्माण किया जाएगा। नोला पब्लिक स्कूल जुम्मा को अनुदान सूची में शामिल किया जाएगा। जौलजीवी में बुनकर भवन का निर्माण किया जाएगा। एलोपैथिक चिकित्सालय बरम हेतु कार्यवाही की जाएगी। स्थानीय लोगों की सहमति पर मुनस्यारी को नगर पंचायत बनाया जाएगा। ग्राम पंचायत पांगला के स्वास्थ्य केन्द्र खोले जाने हेतु कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने जौलजीवी मेले के आयोजन हेतु 5 लाख रुपये देने की घोषणा भी की।
इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने कहा कि यह मेला भारत एवं नेपाल दोनों देशों का सांस्कृतिक मेला है। पूर्व में यह एक बड़ा व्यापारिक मेला होता था, अब इसका स्वरूप धीरे धीरे बदल रहा है। सांसद अजय टम्टा ने केन्द्र द्वारा संचालित कार्यों की जानकारी दी।
इस अवसर पर विधायक धारचूला हरीश धामी, ब्लॉक प्रमुख धन सिंह धामी, नगर पालिका अध्यक्ष राजेश्वर देवी, जिलाध्यक्ष भाजपा विरेन्द्र वल्दिया, जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान, पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह और मित्र राष्ट्र नेपाल के आम नागरिक व संस्कृति कर्मी भी उपस्थित रहे।

डीडीहाट में बोले सीएम अपनों के बीच आया हुं

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पिथौरागढ़ के डीडीहाट में आयोजित पांच दिवसीय डीडीहाट महोत्सव के समापन अवसर पर शनिवार को कुमाउँनी भाषा में संबोधित करते हुए क्षेत्र के विकास हेतु विभिन्न घोषणाएं की। जिसमें डीडीहाट नगर से सिराकोट मंदिर तक रोपवे का निर्माण करने, जीजीआइसी डीडीहाट का नाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय देव सिंह डसीला के नाम किए जाने, डीडीहाट खेल मैदान के विस्तारीकरण करने की कार्यवाही हेतु जिलाधिकारी को प्रस्ताव तैयार करते हुए शासन को प्रेषित करने की घोषणा, घसाड़ विद्यालय का उच्चीकरण किए जाने, डीडीहाट नगर के आंतरिक मार्गों के निर्माण व सौंदर्यीकरण किए जाने की स्वीकृति की घोषणा, डीडीहाट महोत्सव को प्रत्येक वर्ष राजकीय मेले के रूप में मनाए जाने की घोषणा की गई। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर स्वामी विवेकानंद की 18 फीट ऊंची मूर्ति “स्टेच्यू ऑफ मोरालिटी“ का लोकार्पण भी किया गया।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि आज अपनों के बीच आकर में अभिभूत हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दुनिया में भारत की अलग पहचान बनी है। उत्तराखंड से प्रधानमंत्री का विशेष लगाव है जिसके फलस्वरूप यहां विभिन्न क्षेत्रों में विकास योजनाओं के कार्य चलाए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री ने भी कहा है कि आने वाला दशक उत्तराखण्ड का दशक है और इस दशक को उत्तराखण्ड का दशक बनाने के लिए हमारी मातृशक्ति की अहम भूमिका रहेगी। प्रधानमंत्री जी ने 2025 तक उत्तराखंड के लिए जो विजन दिया है, सरकार इस दिशा में तेजी से कार्य कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा की उत्तराखण्ड को एक आदर्श मॉडल राज्य के रूप में स्थापित करने के लिए राज्य सरकार प्रयासरत है। प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में केंद्र सरकार से राज्य को पूरा सहयोग मिल रहा है। उत्तराखण्ड में सड़क मार्गाे का विकास किया जा रहा है, वहीं पहाड़ में रेल का सपना भी साकार हो रहा है। उन्होंने कहा केन्द्र सरकार ने उत्तराखण्ड के लिए ऑलवेदर रोड, भारत माला प्रोजेक्ट, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन की योजनाओं की सौगात दी है। उससे आने वाले समय में उत्तराखण्ड का आवागमन और अधिक सुगम होगा। उन्होंने कहा सरकार जनता के साझीदार के रूप में कार्य कर रही है। लोक पर्वों को बढ़ावा देने के लिए लोकपर्व इगास पर छुट्टी करने का निर्णय लिया है।
पेयजल मंत्री विशन सिंह चुफाल ने अपने संबोधन में कहा कि डीडीहाट क्षेत्र में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं, जिले को जोड़ने वाली सभी सड़क मार्गों की स्थिति बेहतर होने से यहां तक पंहुचने हेतु पर्यटकों को अब आसानी हो रही है। पहले टनकपुर से डीडीहाट तक पंहुचने में अत्यधिक समय लगता था, अब ऑल वैदर रोड के निर्माण से यह समय काफी कम हो गया है। महिलाओं के लिए शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर 5 लाख तक का ऋण प्रदान किया जा रहा है।
सांसद अजय टम्टा ने कहा कि आज प्रदेश में रेलवे लाईन निर्माण के साथ ही सीमांत क्षेत्र तक सड़कों को पंहुचाया जा रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा दो लाभार्थियों को मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट का वितरण करते हुए नवजात बच्चे को अपने गोद में लेकर आशीर्वाद दिया।

पैतृक गांव में पूजा अर्चना कर सीएम ने प्रदेश की खुशहाली का मांगा आर्शीवाद

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शनिवार को पारिवारिक कार्यक्रमों में सम्मिलित होने अपने पैतृक गांव हड़खोला, डीडीहाट, पिथौरागढ़ पहुंचे।
हड़खोला पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का स्थानीय महिलाओं द्वारा कलश यात्रा निकालकर स्वागत किया गया। तत्पश्चात मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पैतृक गांव में स्थित हरीचंद्र देवता मंदिर में पहुंचकर परिवार जनों के साथ पूजा अर्चना की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश की खुशहाली की भी कामना की।

पिथौरागढ़ में विकास कार्यो को गति देने के लिए सीएम ने अधिकारियों की ली क्लास

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पिथौरागढ़ में विकास भवन सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले में संचालित विकास कार्यों एवं योजनाओं की समीक्षा के अतिरिक्त जिले की मुख्य समस्याओं के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने संचालित प्रमुख निर्माण कार्यों की भी जानकारी ली।
मुख्यमंत्री ने निर्माणाधीन बेस चिकित्सालय भवन के निर्माण की प्रगति की समीक्षा करते हुए कार्यदाई संस्था को यथाशीघ्र कार्य पूर्ण करने एवं बेस चिकित्सालय को एक माह के भीतर संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने आगामी 10 दिन के भीतर जिला एवं महिला चिकित्सालय में सभी आवश्यक व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देश जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्साधिकारी को दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि धनराशि अवमुक्त करने के बावजूद भी पिथौरागढ़ मेडिकल कालेज निर्माण का कार्य प्रारम्भ नहीं हुआ है, इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने जल्द निर्माण कार्य शुरू करने के निर्देश दिए।
बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग द्वारा संविदा के तहत रखे गए स्वास्थ्य कर्मी जिन्हें वर्तमान में हटा दिया गया है, उन्हें पुनः सेवा में रखे जाने की मांग पर मुख्यमंत्री द्वारा सचिव चिकित्सा को दूरभाष पर जिले में पूर्व में रखे गए इन संविदा चिकित्सा कर्मियों को पुनः आगामी 31 मार्च 2022 तक रखे जाने के निर्देश दिए गए। इसके लिए जिलाधिकारी को शीघ्र ही प्रस्ताव भी शासन को भेजने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इन कार्मिकों का पूर्व में की गई सेवाओं का वेतन भुगतान हेतु मुख्यमंत्री राहत कोष से धनराशि भी जारी कर दी गयी है।
बैठक में जिला मुख्यालय में वाहन पार्किंग की समस्या के सम्बन्ध में आवश्यक प्रस्ताव उपलब्ध कराए जाने के साथ ही मुख्यमंत्री ने आगामी 10 दिनों में जिला मुख्यालय में निर्मित बहुमंजिला कार पार्किंग को हस्तान्तरित करते हुए संचालित करने के निर्देश दिये। बैठक में तहसील धारचूला के काली नदी किनारे तटबंध निर्माण की समीक्षा के दौरान सिंचाई विभाग के अधिकारियों द्वारा अवगत कराया कि धारचूला के काली नदी किनारे भू कटाव की रोकथाम हेतु प्रस्ताव शासन को भेजा गया है उक्त संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि एक सप्ताह के भीतर स्वीकृति प्रदान कर दी जाएगी। शासन से स्वीकृति पश्चात शीघ्र ही टेंडर की कार्यवाही करते हुए कार्य प्रारम्भ किया जाए।
बैठक में जिले में आपदा राहत एवं पुनर्वास कार्यों की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि पुनर्वास के सभी प्रकरणों को निस्तारित करते हुए आपदा प्रभावितों की हर संभव मदद करते हुए राहत सामग्री आदि वितरित करें। जिले के नैनीसैनी हवाई पट्टी से नियमित उड़ानों के संचालन के संबंध में समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने बैठक से ही सचिव उड्डयन उत्तराखंड को आवश्यक निर्देश देते हुए कहा कि त्वरित कार्यवाही करते हुए राज्य सरकार के स्टेट प्लेन के माध्यम से हवाई यात्रा शुरू करने की कार्यवाही की जाय। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही नैनीसैनी से हवाई सेवाएं सुचारू की जाय इस संबंध में उन्होंने जिलाधिकारी पिथौरागढ़ एवं आयुक्त कुमाऊँ को भी तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों को पूर्ण करने में परिणाम शीघ्र ही दिखना चाहिए।
बैठक में जनपद में उत्तर प्रदेश निर्माण निगम द्वारा कराए जा रहे कार्यों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी पिथौरागढ़ ने अवगत कराया कि जिला मुख्यालय के निकट ग्राम मड़ में सीमांत इंजीनियरिंग कॉलेज का निर्माण किया जा रहा है, निर्माण कार्यों में अनियमितता की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने आयुक्त कुमाऊँ मण्डल को तुरंत उच्चस्तरीय जांच करते हुए तथा जिलाधिकारी द्वारा गठित की गई जांच रिपोर्ट अनुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्माण कार्यों में पूर्व गुणवत्ता, पारदर्शिता एवं समयबद्धता का विशेष ध्यान रखा जाय तथा गलत कार्य करने वाली एजेंसियों के खिलाफ जिलाधिकारी त्वरित कार्यवाही करें। बैठक में सड़कों की स्थिति आदि की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि मानसून काल में बंद 268 सड़कों में से 265 सड़कों को यातायात हेतु खोल दिया गया है। एक महत्वपूर्ण सड़क दारमा घाटी को जोड़ने वाली सड़क को शीघ्र खोले जाने हेतु तेजी से कार्य किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त बैठक में अवगत कराया कि जिले में 254 किमी सड़क मार्ग में से 228 किमी सड़क मार्ग में पैच वर्क का कार्य पूर्ण कर लिया गया है शेष में कार्य जारी है। पीएमजीएसवाई के अंतर्गत कुल 271 सड़कों में से 144 सड़कों का कार्य पूर्ण हो गया है। जल जीवन मिशन अन्तर्गत प्रथम फेस के अंतर्गत 60 फीसदी कार्य पूर्ण हो गया है। कोविड वैक्सीनेशन की प्रगति की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि जिले में प्रथम डोज 99 फीसदी व्यक्तियों को तथा 62 फीसदी लोगों को द्वितीय डोज की कोविड वैक्सीन लग गई है, आगामी 15 दिसम्बर तक शत प्रतिशत वैक्सीनेशन जिले में हो जाएगा। जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि वनाधिकार के अंतर्गत 35 में से 27 को पट्टे जारी कर दिये गए हैं, जिले में 5 करोड़ से अधिक लागत के कार्यों को तेजी से किया जा रहा है। मुख्यमंत्री घोषणा अन्तर्गत 234 घोषणाओं में से 63 पूर्ण हो गई है शेष में कार्यवाही गतिमान है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री घोषणाओं को शीघ्र ही पूर्ण करें। इसके अतिरिक्त जिले में वर्तमान तक चारों सैक्टरों अंतर्गत कुल 85.69 प्रतिशत धनराशि व्यय कर ली गई है।
बैठक से पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा विकास भवन सभागार में जनता मिलन कार्यक्रम अन्तर्गत आम जनता तथा विभिन्न संगठनों आदि की समस्याएं भी सुनी तथा उनके समाधान का पूर्ण भरोसा दिलाते हुए आवश्यक कार्यवाही के निर्देश अधिकारियों को दिये।

पिथौरागढ़ में सीएम ने 100 फीट ऊंचाई का तिरंगा फहराया

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को पिथौरागढ़ में जिला मुख्यालय के चंडाक रोड स्थित वरदायिनी मंदिर परिसर में आयोजित आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर उन्होंने नव निर्मित 100 फीट ऊंचाई का तिरंगा फहराया। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भूमि देव एवं वीरों की भूमि है। तिरंगा युवाओं में देश भक्ति का जज्बे के साथ ही देश के लिए कुछ करने के लिए प्रेरित करता है।
इस अवसर पर पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल, विधायक पिथौरागढ़ चंद्रा पंत, अध्यक्ष नगर पालिका राजेद्र रावत, आयुक्त कुमाऊं सुशील कुमार, आईजी निलेश आनंद भरणे, जिलाधिकारी डॉ आशीष कुमार चौहान, पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह मौजूद रहे।

हर पिथौरागढ़ के शरदीय मेले का 50 लाख देगी सरकार-धामी

जनपद पिथौरागढ़ के भ्रमण पर पंहुचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देव सिंह मैदान में आयोजित शरदोत्सव एवं विकास प्रदर्शनी के उद्घाटन अवसर पर उपस्थित जनता को संबोधित करते हुए बेस चिकित्सालय पिथौरागढ़ का नाम स्वर्गीय प्रकाश पंत के नाम किए जाने, जिला मुख्यालय के पाण्डेयगांव से निराड़ा तक सड़क का निर्माण किए जाने, शरदोत्सव एवं विकास प्रदर्शनी हेतु प्रत्येक वर्ष 50 लाख रुपये सरकारी अनुदान दिए जाने, छिपला केदार मेला स्थल हेतु 2 लाख रुपये दिए जाने, तथा लंदन फोर्ट का नाम सोरगढ़ किले के नाम पर रखे जाने की घोषणा के अतिरिक्त देव सिंह मैदान का सौंदर्यीकरण तथा नगर पालिका भवन का जीर्णाेद्धार किए जाने की स्वीकृति प्रदान की गई। उन्होंने कहा कि हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी कहा है कि आने वाला दशक उत्तराखण्ड का दशक है और इस दशक को उत्तराखण्ड का दशक बनाने के लिए हमारी मातृशक्ति को बहुब भूमिका का निर्वहन करना है। मोदी के विजन 2025 को लेकर हमारी सरकार पूर्ण रूप से प्रतिबद्व है कि इस दशक की शुरूआत में जो विकास की रफ्तार हमने पकड़ी है उसको हम पूर्ण रूप से गतिमान रखेंगे और उत्तराखण्ड को एक आदर्श मॉडल राज्य के रूप में स्थापित करेंगे। उन्होंने कहा कि इस प्रदेश को बनाने में हमारी मातृशक्ति की कितनी बड़ी भूमिका रही है यह बात किसी से छिपी नही है मैं अपने इस प्रदेश की मातृशक्ति को भी प्रणाम करता हूं। मुख्यमंत्री धामी ने कहा हमने आजीविका मिशन से जुडी महिलाओं को मजबूती के लिए 118 करोड का कोविड राहत पैकेज जारी कर दिया है जिससे 7.5 लाख महिलाओं को सीधा लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि पूरे प्रदेश में और अधिक से अधिक महिलाओं को पर्यटन गतिविधियों से जोड़ा जाए। महिलाओ को सशक्त बनाने और उनकी सुरक्षा, मानसम्मान करने की प्रधानमंत्री की सोच और महिला सशक्तिकरण की दिशा में हम लगातार काम कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि विधवा, निशक्त, दिव्यांग महिलाओं को आत्मनिर्भर और स्वरोजगारी बनाने हेतु सरकार द्वारा कार्य किया जा रहा है। सरकार ने मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना का शुभारम्भ किया है, तीलूरौतेली और आंगनबाडी पुरस्कार की राशि को बढाकर 51 हजार कर दिया गया है साथ ही नन्दागौरा योजना के तहत 2015 से 2017 तक के वंचित रह गई 30 हजार बेटियों को योजना का लाभ देने के लिए 49 करोड़ की स्वीकृति सरकार ने दे दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की महान जनता के आर्शीवाद, सरकार की मजबूत इच्छाशक्ति प्रधानमंत्री के उत्तराखण्ड के प्रति विशेष लगाव और केन्द्र सरकार के सहयोग से प्रदेश तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। पिछले पांच वर्षाे में केन्द्र सरकार द्वारा लगभग एक लाख करोड की विभिन्न परियोजनायें प्रदेश के लिए स्वीकृत की गई हैं जिनमें बहुत सी परियोजनाओं पर काम हो गया है और अन्य पर काम तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा केन्द्र सरकार के सहयोग से उत्तराखण्ड में सडक मार्गाे का विकास किया जा रहा है वहीं पहाड़ में रेल का सपना भी साकार होने की कगार पर है। उन्होंने कहा केन्द्र सरकार ने उत्तराखण्ड के लिए चारधाम आलवेदर रोड, भारत माला प्रोजेक्ट, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन की योजनाओ की सौगात दी है। उससे आने वाले समय मे उत्तराखण्ड का आवागमन सुगम हो जायेगा। इसके अतिरिक्त केन्द्र सरकार ने भौगोलिक एवं सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण 155 किमी के टनकपुर-बागेश्वर रेल मार्ग के अन्तिम सर्वे को मंजूरी दे दी है इसके लिए 28 करोड की धनराशि भी अवमुक्त कर दी है। सीएम धामी ने कहा हमारी सरकार दलगत राजनीति से ऊपर उठकर कार्य करती है सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री स्व पं. नारायण दत्त तिवारी जी के कार्याे को हमारी सरकार ने सम्मान दिया है। उन्होंने कहा पंतनगर सिडकुल का नाम अब पं नारायण दत्त तिवारी के नाम से होगा। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मेरे मुख्य सेवक की भूमिका निभाने के बाद हमारी सरकार लगातार ही जनहित के फैसले ले रही है। उन्होंने कहा हमारी सरकार युवाओं को रोजगार देने पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा विभिन्न विभागों में रिक्त चल रहे 24000 पदों पर भर्ती एवं युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए युवाओं हेतु प्रत्येक जिले में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ऋण वितरित किए जा रहे है।
उन्होंने कहा प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत गौरवशाली शक्तिशाली आत्मनिर्भर एवं विश्व गुरु के रूप में उभर रहा है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड युवा राज्य को आने वाले समय में शिक्षा, स्वास्थ्य,पर्यटन व्यापार उद्योग जैसे तमाम क्षेत्रों में हिंदुस्तान का नंबर वन राज्य बनाएंगे। उन्होंने कहा हमारी सरकार समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति को लाभ पहुंचे इस पर निरंतर कार्य कर रही है। उन्होंने कहां राज्य का विकास मेरी अकेली यात्रा नहीं अपितु सामूहिक यात्रा है जिसमें सभी की सहभागिता जरूरी है। उन्होंने कहा कि आशा कार्यकत्रियों की मांग को पूरा करते हुए उनके मानदेय के अन्तर्गत 1000 रूपये और प्रोत्साहन राशि के रूप में 500 रूपये दिए बढ़ाए हैं। उन्होंने कहा कि उपनल से सम्बन्धित कार्मिकों के मानदेय में 10 वर्ष से कम के कार्मिकों को 2000 रूपये प्रतिमाह और 10 वर्ष से ऊपर कार्मिकों को 3000 रूपये प्रतिमाह मानदेय के रूप में वृद्धि की जायेगी। उन्होंने कहा मुख्य सेवक के रूप में 101 दिन में करीब 330 से अधिक फैसले ले लिए गए हैं। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा एनआरएलएम योजनान्तर्गत 1955 महिला स्वयं समूहों को 165.66 लाख की धनराशि के चेक भी वितरित किये गये।
इस अवसर पर पेयजल मंत्री विशन सिंह चुफाल द्वारा जिले में संचालित विभिन्न विकास कार्यों के बारे में जानकारी दी गई, उन्होंने कहा कि गांव में सड़क,पेयजल, स्वास्थ्य आदि के क्षेत्र में विकास कार्य गतिमान है। विधायक पिथौरागढ़ चंद्रा पंत द्वारा विधानसभा क्षेत्र पिथौरागढ़ अंतर्गत किए जा रहे विकास कार्यों,संचालित योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई।
इस मौके पर विधायक गंगोलीहाट मीना गंगोला, अध्यक्ष नगरपालिका राजेन्द्र रावत, अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक मनोज सामंत, जिलाध्यक्ष भाजपा विरेन्द्र वल्दिया,आयुक्त कुमाऊं सुशील कुमार,आई जी कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे, जिलाधिकारी डा0 आशीष चौहान, पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अनुराधा पाल, अपर जिलाधिकारी फिंचा राम चौहान समेत विभिन्न जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, क्षेत्रीय जनता आदि उपस्थित रहे।

पिथौरागढ़ जिले की 344 करोड़ की विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण

तीन दिवसीय जनपद पिथौरागढ़ के भ्रमण पर पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा जिला मुख्यालय के देव सिंह मैदान में आयोजित शरदोत्सव एवं विकास प्रदर्शनी का शुभारंभ करते हुए, जनपद के विकास हेतु कुल 34384.65 (तीन सौ तैतालिस करोड़ चौरासी लाख, पैंसठ हजार) की कुल 126 योजनाओं, कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया।
मुख्यमंत्री द्वारा विधानसभा पिथौरागढ़ के अंतर्गत 91.23 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन के0एन0यू0रा0आ0इ0का0 पिथौरागढ़ के विद्यालय का पुननिर्माण एवं खेल मैदान का सुदृढ़ीकरण, 179.38 लाख रू0 की लागत से एस0डी0एस0रा0इ0का0 पिथौरागढ़ में मिटिंग हाल, प्रयोगशाला एवं हाईटेक शौचालय का निर्माण, 40.50 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन रा0इ0का0कुम्डार में लाइब्रेरी कक्ष एवं कम्प्यूटर कक्ष का निर्माण, 64.29 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन श्री सुरेन्द्र सिंह वल्दिया स्पोट्स स्टेडियम में शूटिंग रेन्ज शैड का निर्माण कार्य, 41.72 लाख की लागत से निर्माणाधीन जिलाधिकारी पिथौरागढ़ के कार्यालय भवन का सौन्दर्यीकरण, 29.00 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन राजकीय कुक्कुट प्रक्षेत्र विण पिथौरागढ़ के नये हैचरी का निर्माण, 256.73 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन पशु चिकित्सालय सदर में पॉली क्लीनिक की स्थापना, 315.34 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन 13 जनपद 13 डेस्टिनेशन पर्यटन के विकास सम्बन्धी कार्य, 342.09 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन पिथौरागढ़ के जिला चिकित्सालय में 9 चिकित्साधिकारियों के लिए ट्रांजिट हॉस्टिल के निर्माण कार्य, 81.32 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन सीम सोलर पंपिंग पेयजल केन्द्र पोषित के कार्य, 64.95 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन सिलिंग्या सोलर पंपिंग पेयजल केन्द्र पोषित का कार्य, 80.83 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन थरकोट सोलर पंपिंग पेयजल केन्द्र पोषित योजना का कार्य, 64.83 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन सिलौली सोलर पंपिंग पेयजल योजना केन्द्र पोषित का कार्य, 42.48 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन विधानसभा क्षेत्र पिथौरागढ़ के अंतर्गत मर्साेलीभाट खतेड़ा मोटर मार्ग के किमी0 8 में डामरीकरण का कार्य, लम्बाई 1.00 किमी0 के कार्य, राज्य योजनान्तर्गत 155.68 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन जनपद के अंतर्गत टनकपुर रोड़ राष्ट्रीय राजमार्ग से टाला फगाली मोटर मार्ग में सुधारीकरण एवं डामरीकरण कार्य किये जाने के कार्य, 38.33 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन सुकौली गणकोट से रावलगांव मार्ग का निर्माण के कार्य, 130.14 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन विधानसभा क्षेत्र पिथौरागढ़ के मोस्टमानों से हलपाटी मोटरमार्ग में सुधारीकरण का कार्य, 216.36 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन मोस्टमानों का ईको टूरिज्म के रूप में विकास कार्य, 763.77 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान पिथौरागढ़ का मरम्मत एवं सुदृढ़ीकरण कार्य, 98.21 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन देवतपुरचौड़ा लिफ्ट सिंचाई योजना कार्य, मुख्यमंत्री जी द्वारा 59.50 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन विकासखंड डीडीहाट हेतु राज्य योजनान्तर्गत जनपद पिथौरागढ़ के विधानसभा क्षेत्र डीडीहाट में छड़नदेव-न्वाली मोटरमार्ग से रूनड़ा तक मोटरमार्ग का नवनिर्माण कार्य, राज्य योजनान्तर्गत 116.08 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन डीडीहाट में बन्दरलीमा हड़खोला मोटर मार्ग का नवनिर्माण कार्य, 88.19 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन मा0 मुख्यमंत्री घोषणा अंतर्गत डीडीहाट के छड़नदेव मलान काणाधार चमडुंगरी मोटरमार्ग एवं सेतु का नवनिर्माण का कार्य, 54.81 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन नाघर कुमलता गंगासेरी मोटर मार्ग का नव निर्माण के कार्य, 42.57 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन कनालीछीना मोटर मार्ग से सतगढ़ तक मोटरमार्ग का निर्माण कार्य, 58.49 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन मा0 मुख्यमंत्री घोषणा अंतर्गत मड़मानले दोबांस सड़क से धुरचू-कुनकू मोटरमार्ग का निर्माण के कार्य, 68.09 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन देवलथल चौखा टाना बमडोली मोटर मार्ग के चौराहन नामक स्थान से संगरोड़ा होते हुए जू0हा0स्कूल बमडोली तक मोटरमार्ग का पुनः निर्माण एवं सुधारीकरण के कार्य, 73.20 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन सातशिलिंग थल मोटरमार्ग के रामकोट से पत्थरकोट तक मोटर मार्ग का नव निर्माण के कार्य, 42.57 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन मुख्यमंत्री घोषणा अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र डीडीहाट के ग्राम पंचायत सतगड़ धर्मशाला तक 4 किमी0 तक मोटरमार्ग का नव निर्माण कार्य, 95.12 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन डीडीहाट में बुंगाछीना धौनखोला रसैपाटा मोटरमार्ग का नव निर्माण के कार्य, 177.25 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन डीडीहाट में सुरौन उनपानी मोटरमार्ग में सुधारीकरण व डामरीकरण का कार्य, 112.94 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन डीडीहाट अंतर्गत पीपली से बगड़ीगांव मोटरमार्ग में पुननिर्माण एवं सुधारीकरण के कार्य, 98.87 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन डीडीहाट से पीपली से द्वालीसेरा मोटरमार्ग का पुनः निर्माण एवं सुधारीकरण के कार्य, 180.55 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन डीडीहाट अंतर्गत छड़नदेव गैडाली चनोली मोटरमार्ग का पुननिर्माण एवं सुधारीकरण के कार्य, 76.86 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन डीडीहाट के हाट से जाख धौलेत मोटरमार्ग में सुधारीकरण के कार्य, 65.00 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन राजकीय पौधालय बडालू में फूड प्रोसोसिंग यूनिट का निर्माण के कार्य, 77.12 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन ग्राम ननपापो में हैलीपैड निर्माण के कार्य, 118.77 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन रा0उ0मा0वि0 घसाड़ में विद्यालय भवन का निर्माण के कार्य, 236.16 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन तहसील कनालीछीना के अनावासीय भवनों का निर्माण कार्य, 2271.80 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन मड़मानले-बटुकेश्वर पंपिंग पेयजल योजना केन्द्र पोषित का शिलान्यास, 213.96 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन कर्णप्रयाग अल्मोड़ा अस्कोट मोटरमार्ग 235.00 से मिर्थी तल्ली मोटरमार्ग के कार्य, 76.86 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन हाट से जाख धौलेत मोटरमार्ग में सुधारीकरण, 95.1 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन डीडीहाट में मिनी स्टेडियम, झौलखेत मनमानले का निर्माण, विकासखंड गंगोलीहाट के अंतर्गत मा0 मुख्यमंत्री द्वारा 55.00 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन रा0इ0का0 प्रेमनगर में साईंस लैब, कम्प्यूटर लैब व आर्ट कक्ष का निर्माण कार्य, 63.77 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन रा0इ0का0 कार्कीनगर में साईस लैब, आर्ट कक्ष, कम्प्यूटर कक्ष व शौचालय के निर्माण, 150.70 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन रा.इ.का. पुराना थल के निर्माण कार्य, 128.29 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन रा.इ.का. कार्कीनगर के निर्माण कार्य, 84.00 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन तहसील बेरीनाग के आवासीय/अनावासीय भवनों के निर्माण कार्य, 67.84 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन माननीय मुख्यमंत्री घोषणा के अंतर्गत जनपद पिथौरागढ़ में विधान सभा क्षेत्र गंगोलीहाट के अंतर्गत राईआगर चौडमन्या मोटर मार्ग के किमी. 3.200 से कोटेर चचरेत मोटर मार्ग का नव निर्माण कार्य, 215.78 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन एस.सी.पी.एस.पी. के अंतर्गत सानीखेत छलौड़ी मोटर मार्ग में सुधारीकरण एवं डामरीकरण के कार्य, 73.41 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन राजकीय आदर्श मा. विद्यालय पाखू में प्रयोगशाला के निर्माण कार्य, 650.18 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन थर्प से बड़ेत बाफिला मोटर मार्ग स्टेज-01 के निर्माण कार्य, 701.07 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन बनकोट से ब्रुशखोली धारी धुमलाकोट मोटर मार्ग स्टेज -01 के निर्माण कार्य, 635.21 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन राइआगर भुलकी अध्याली मोटर मार्ग स्टेज-02 के निर्माण कार्य, 101.07 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन अमतड़ लिफ्ट सिंचाई योजना के निमार्ण कार्य, 95.18 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन कर्णप्रयाग अल्मोड़ा किमी. 350.00 से चौकी मोटर मार्ग स्टेज-11 के निर्माण कार्य, विकासखंड धारचूला हेतु मा0 मुख्यमंत्री द्वारा 86.97 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन रा0इ0का0 जुम्मा में साइंस लैब, कम्प्यूटर कर्क्ष, आ एवं क्राफट कक्ष, लाइब्रेरी एवं कक्षा कक्ष के निर्माण कार्य, 132.90 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन रा0इ0का0 नाचनी में विद्यालय भवन का निर्माण कार्य, 113.14 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन जी0आइ0सी0 मुनस्यारी का जीणोद्वारा कार्य, 101.24 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन अंतराष्ट्रीय सीमा से लगे गांव गुंजी, नाभी व कुटी में स्टोन कोबेल पाथ-वे का निर्माण, 28.76 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन राजकीय होम्योपैथिक चिकित्सालय मुनस्यारी में आवासीय भवन का निर्माण, 99.09 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन थाना पॉगला के प्रशासनिक भवन का निर्माण, 25.00 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन मुनस्यारी तहसील में हिमालयी मॉ नन्दादेवी मरतोली मंदिर परिसर के निकट जनमिलन केन्द्र एवं पर्यटक विश्राम हट का निर्माण के कार्य, 288.15 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन राज्य सैक्टर नाबार्ड के अंतर्गत विकासखंड मुनस्यारी में रामगंगा नदी के बायें पार्श्व पर नाचनी कस्बे की रामगंगा नदी से सुरक्षा हेतु सुदृढ़ीकरण की बाढ़ सुरक्षा प्रायोजना का कार्य, 579.90 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन मालकोट से लोध मोटरमार्ग स्टेज-01 के कार्य, 80.00 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन राजकीय आर्युवेदिक चिकित्सालय पयापौंडी का निर्माण व धारचूला में 98.19 लाख रू0 की लागत से निर्माणाधीन मिनी स्टेडियम तांकुल का निर्माण कार्य किये जाने का शिलान्यास किया गया।
इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री द्वारा पिथौरागढ़ जिले के विकास हेतु कुल 59 योजनाओं/कार्यों का लोकापर्ण किया गया जिसमें 29.80 लाख रू0 की लागत से निर्मित एस0डी0एस0इ0का0 पिथौरागढ़ में अतिरिक्त कक्षा-कक्ष व पुस्तकालय का निर्माण, 41.97 लाख रू0 की लागत से निर्मित के0एन0यू0रा0आ0इ0का0 पिथौरागढ़ में कम्प्यूटर कक्ष, व बालिका शौचालय का निर्माण, 16.43 लाख रू0 की लागत से निर्मित बी0डी0पाण्डे0जिला चिकित्सायल में ब्लड सैपरेशन यूनिट हेतु निर्माण कार्य, 6304.28 लाख रू0 की लागत से निर्मित बेस चिकित्सालय लिन्ठ्यूड़ा का निर्माण कार्य, 17.32 लाख रू0 की लागत से निर्मित बी0डी0पाण्डे0 जिला चिकित्सालय पिथौरागढ़ में ब्लड सैपरेशन यूनिट के प्रथम तल में पैथोलोजी लैब का निर्माण, 17.80 लाख रू0 की लागत से निर्मित बासकेट बॉल कोर्ट का मरम्मत कार्य, 208.75 लाख रू0 की लागत से निर्मित मिनी औद्योगिक आस्थना विण के स्थलीय विकास कार्य, 297.95 लाख रू0 की लागत से निर्मित पिथौरागढ़ झूलाघाट मोटरमार्ग से मल्ली बडालू मोटरमार्ग का निर्माण, 338.48 लाख रू0 की लागत से निर्मित राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय में कॉमर्स ब्लाक का निर्माण, 271.34 लाख रू0 की लागत से निर्मित राजकीय महाविद्यालय मुवानी के भवन निर्माण, 68.83 लाख रू0 की लागत से निर्मित राजकीय आर्युवेदिक चिकित्सालय नाचनी का निर्माण, 384.15 लाख रू0 की लागत से निर्मित नाबार्ड की आर.आई.डी.एफ. ग्रामीण हार्ट, 100.00 लाख रू0 की लागत से निर्मित पिथौरागढ़ शहर को पर्यटन शहर के रूप में विकसित किया जाने का कार्य, 103.00 लाख रू0 की लागत से निर्मित वी0आई0पी0 लॉज एवं दर्शक दीर्घा का निर्माण, 145.20 लाख रू0 की लागत से निर्मित सल्ला-रौतगढ़ मोटरमार्ग के किमी0 3.00 में 30 मी0 स्टील गर्डर हेतु केन्द्र पोषित योजना, 10.90 लाख रू0 की लागत से निर्मित शहर में चण्डाक ट्रैक के किनारें सोलर लाईटों की स्थापना, 28.20 लाख रू0 की लागत से निर्मित बरदानी मन्दिर व्यू प्वाइंट एवं पार्क स्थापना कार्य, 17.52 लाख रू0 की लागत से निर्मित इन्दिरा पार्क के0मो0ओ0यू0 स्टेशन पिथौरागढ़ का विकास एवं सौन्दर्यीकरण, 644.00 लाख रू0 की लागत से निर्मित राज्य योजनार्न्गत बेस चिकित्सालय में सी0टी0 स्कैन मशीन, 1.50 लाख रू0 की लागत से निर्मित जिला चिकित्सालय में आर0सी0टी0 मशीन का लोकापर्ण किया गया।
विकासखंड गंगोलीहाट हेतु265.76 लाख रू0 की लागत से निर्मित राईआगर सेराघाट मोटरमार्ग से सुकुल्याडी गांव तक ग्रामीण मोटरमार्ग का निर्माण का लोकापर्ण, 166.00 लाख रू0 की लागत से निर्मित दशाईथल राईआगर मोटरमार्ग से ग्राम नाग मोटरमार्ग, 71.15 लाख रू0 की लागत से निर्मित रा0ह0स्कूल बुगली में आर्ट कक्ष एव का्रफट पुस्तकालय दो कक्षा-कक्ष का निर्माण का लोकार्पण, 95.94 लाख रू0 की लागत से जी0आई0सी0 दशाईथल गंगोलीहाट में भवन निर्माण का लोकापर्ण, 108.86 लाख रू0 की लागत से निर्मित रा0इ0का0 चहज में भवन निर्माण का लोकापर्ण, 549.83 लाख रू0 की लागत से निर्मित गंगोलीहाट पवाधार चोरपाल किमी0 12.00 से धराड़ी गानूरा मोटरमार्ग, 299.42 लाख रू0 की लागत से निर्मित धराड़ी नागचूला चोरपाल किमी0 15 से पाली पलियाल मोटरमार्ग, 146.99 लाख रू0 की लागत से निर्मित 36मी0 स्पान स्टील गर्डर सेतु धराड़ी नागधूना चोरपाल किमी0 15 से पाली पलियाल मोटरमार्ग, 1149.42 लाख रू0 की लागत से निर्मित राज्य योजनान्तर्गत हलियाडोब से लछिमा-ओखरानी-नाचनी मोटरमार्ग का निर्माण, 253.78 लाख रू0 की लागत से निर्मित बैराट-बौगाड़ से बैराजुब्बर मोटरमार्ग का निर्माण, 333.94 लाख रू0 की लागत से निर्मित हलियाजॉब-गरूउ मोटरमार्ग केन्द्र पोषित का कार्य, मा0 मुख्यमंत्री द्वारा विकासखंड डीडीहाट हेतु 60.00 लाख रू0 की लागत से निर्मित औद्यानिक गतिविधियों में प्रशिक्षण हेतु फॉर्मर्स ट्रेनिंग सेंटर बडालू का लोकापर्ण, 65.41 लाख रू0 की लागत से निर्मित राजकीय ऐलोपैथिक चिकित्सालय आणागॉव का निर्माण कार्य, 351.93 लाख रू0 की लागत से निर्मित डीडीहाट में रामगंगा नदी के बाये पार्श्व पर स्थित थल कस्बे की सुरक्षा हेतु बाढ़ सुरक्षा योजना का लोकापर्ण, 297.95 लाख रू0 की लागत से निर्मित झूलाघाट मोटरमार्ग में मल्ली बडालू मोटरमार्ग का निर्माण, 271.74 लाख रू0 की लागत से निर्मित राजकीय महाविद्यालय मुवानी के भवन निर्माण, 2328.97 लाख रू0 की लागत से निर्मित डीडीहाट पंपिंग पेयजल योजना का लोकापर्ण, 142.16 लाख रू0 की लागत से निर्मित पमतोड़ी भांतड कुकरौली मसमोली मोटरमार्ग में मसमोली से तड़ीगांव तक मोटरमार्ग में डामरीकरण के कार्य, 194.63 लाख रू0 की लागत से निर्मित सानदेव-चौबाटी से अटलगांव मोटरमार्ग स्टेज 1 का कार्य, 683.67 लाख रू0 की लागत से निर्मित चौबाटी-बरमबचकुड़ी मोटरमार्ग स्टेज 2 का कार्य, 206.11 लाख रू0 की लागत से निर्मित बुंगाछीना-अलगड़ा किमी0 7ः00 से कचना मोटरमार्ग स्टेज 2 का कार्य, 299.89 लाख रू0 की लागत से निर्मित धारचूला के विकासखंड मुनस्यारी के अंतर्गत गिनी बैण्ड से समकोट मोटरमार्ग के किमी0 13 से डोकुला तक मोटरमार्ग का निर्माण कार्य, 469.57 लाख रू0 की लागत से निर्मित मा0 मुख्यमंत्री घोषणा अंतर्गत धारचूला में नाचनी बांसबगड़ मोटरमार्ग के किमी0 3 से बाथीगूठ सुन्दरीनाग मोटरमार्ग का निर्माण कार्य, 434.09 लाख रू0 की लागत से निर्मित गोवर्षा-आणागांव मोटरमार्ग का अपग्रेडेशन का लोकापर्ण, 718.20 लाख रू0 की लागत से निर्मित 419.21 लाख रू0 की लागत से निर्मित सानदेव-ननपापों मोटरमार्ग स्टेज 2 का कार्य, 116.08 लाख रू0 की लागत से निर्मित बन्दरलीमा हड़खोला मोटरमार्ग का नव निर्माण कार्य स्टेज 2 का लोकापर्ण, 537.83 लाख रू0 की लागत से निर्मित बुगाछीना-अलगड़ा-बसौर मोटरमार्ग अपग्रेडेशन के कार्य, 428.59 लाख रू0 की लागत से निर्मित पाली-ख्वाकोट मोटर मार्ग का अपग्रेडेशन, विकासखंड धारचूला हेतु 28.45 लाख रू0 की लागत से निर्मित चौंदास घाटी में छिपलाकेदार तीर्थ स्थल का विकास कार्य, 49.50 लाख रू0 की लागत से जी0आई0सी0 नाचनी में आर्ट एण्ड क्राफट कक्ष, लाइब्रेरी एवं बालक व बालिका शौचालय निर्माण, 68.83 लाख रू0 की लागत से निर्मित 298.02 सन्यालगांव पेयजल योजना, 447.38 लाख रू0 की लागत से निर्मित धारचूला में काली नदी के दाये पार्श्व पर स्थित कुमांउ स्काउटस फेमिली परिसर मल्ला हाट की सुरक्षा हेतु बाढ़ सुरक्षा योजना के कार्य, 116.66 लाख रू0 की लागत से निर्मित फायर स्टेशन धारचूला में उच्चीकरण के कार्य, 20.00 लाख रू0 की लागत से निर्मित स्टेडियम धारचूला में उच्चीकरण के कार्य, 469.57 लाख रू0 की लागत से निर्मित विधान सभा क्षेत्र धारचूला में नाचनी बांसबगड़ मोटरमार्ग के किमी0 03 से आथीगुड सुन्दरीनाग मोटरमार्ग का निर्माण कार्य, 24.26 लाख रू0 की लागत से निर्मित मुनस्यारी में हाईटेक शौचालय का निर्माण व 96.10 लाख रू0 की लागत से निर्मित मदकोट एवं सेरा गर्मपानी के श्रोतों के विकास का कार्यका लोकार्पण किया गया।
कार्यक्रम के दौरान पेयजल मंत्री उत्तराखंड सरकार बिशन सिंह चुफाल, विधायक पिथौरागढ़ चंद्रा पंत, विधायक गंगोलीहाट मीना गंगोला, अध्यक्ष नगरपालिका राजेन्द्र रावत, अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक मनोज सामंत, रेलवे बोर्ड की सदस्य गीता ठाकुर, जिला प्रभारी भाजपा कैलाश शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र वल्दिया, राकेश देवलाल, महिमन कन्याल, बी एल जोशी जिलाध्यक्ष भाजपा महामण्डलेश्वर विरेंद्रानंद महाराज, आयुक्त कुमाऊं सुशील कुमार,आई कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे, जिलाधिकारी डा आशीष चौहान, पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अनुराधा पाल, अपर जिलाधिकारी फिंचा राम चौहान समेत विभिन्न जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, स्थानीय नागरिक, संस्कृति कर्मी, स्कूलों के बच्चे आदि उपस्थित रहे।