ऋषिकेश व्यापार महासंघः अध्यक्ष और महामंत्री पद पर दो-दो ने दाखिल किया नामांकन

नगर उद्योग व्यापार महासंघ के चुनाव में व्यापार सभा भवन में अध्यक्ष पद पर राजेश भट्ट व विनोद शर्मा और महामंत्री पद पर अखिलेश मित्तल व विवेक वर्मा ने अपने दर्जनों व्यापारी समर्थकों के साथ मुख्य चुनाव अधिकारी राजेन्द्र सेठी व सह चुनाव अधिकारी नवल कपूर, दीपक जाटव, मनोज कालड़ा व मदन नागपाल के समक्ष अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।
सह चुनाव अधिकारी नवल कपूर व दीपक जाटव ने बताया कि आज अध्यक्ष पद पर दो व महामंत्री पद पर दो नामांकन प्रपत्र दाख़िल हुए हैं कल नाम वापसी का समय है व कल ही प्रत्याशियों की अंतिम सूची जारी की जायेगी व उसके पश्चात नौ अप्रेल को वोटिंग होनी है।

अध्यक्ष पद के प्रत्याशी राजेश भट्ट ने कहा कि मैं क्षेत्रों व्यापार संघ का अध्यक्ष हूँ व कई वर्षों से व्यापार कर रहा हूँ और व्यापारी भाईयों की समस्याओं के लिये भी आवाज उठाता रहा हूँ पहले कोई बड़ा प्लेटफॉर्म नहीं था पर अगर मैं चुन कर आया तो महासंघ को ऐसा संगठन बनाने का प्रयास करूँगा जिसमें एक छत के नीचे सभी व्यापारी भाइयों की समस्याओं का समाधान होगा।
मौके पर सूरज गुल्हाटी, राजीव मोहन अग्रवाल, अजय गर्ग, पार्षद मनीष शर्मा, ललित सक्सेना, मदन कोठारी, प्रवीन अग्रवाल, सचिन अग्रवाल, सुनील उनियाल, दीपक गुप्ता, मुकेश चैहान, अशोक थापा, सरदार प्रीतपाल सिंह, अमरीक सिंह, अतुल सरीन, मनोज साहल सहित दर्जनों व्यापारी मौजूद थे।

…तो क्या कल रह जाएंगे सिर्फ दो प्रत्याशी

नगर उद्योग व्यापार महासंघ के चुनाव भले ही नौ अप्रैल को निर्धारित हैं, इसके लिए अध्यक्ष पद पर दो और महामंत्री पद पर भी दो प्रत्याशियों ने न सिर्फ नामांकन पत्र खरीदा। बल्कि नामांकन पत्र को पूर्ण रूप से भरकर दाखिल भी किया है। वहीं, कल नाम वापसी का भी दिन है। सूत्रों के अनुसार कल नाम वापसी के दिन अध्यक्ष पद पर एक और इसी तरह महामंत्री पद पर भी एक प्रत्याशी अपना-अपना नाम वापस ले लेगा। यदि सूत्रों की बात सच होती है तो व्यापार महासंघ के चुनाव नौ अप्रैल से पूर्व ही सिमट जाएंगे। वहीं, अध्यक्ष और महामंत्री पद पर शेष अकेले बचे व्यापारियों को ही निर्विरोध चुन लिया जाएगा। अब देखना यह होगा कि सूत्रों की बातों में कितना दम है।

व्यापारिक चुनावः संजय और प्रतीक को जनसंपर्क अभियान में मिल रहा व्यापारियों का भरपूर साथ

व्यापार मंडल ऋषिकेश के चुनाव में अध्यक्ष पद के दावेदार संजय व्यास और महामंत्री पद के प्रत्याशी प्रतीक कालिया ने अपने जनसंपर्क अभियान को पुरजोर रफ्तार दे दी है। सुपर संडे को उमस भरी गर्मी के बावजूद दोनों प्रत्याशियों ने देहरादून रोड़ स्थित व्यापारियों से जनसंपर्क कर उनके पक्ष मे मतदान की अपील की। इस दौरान दोनों प्रत्याशियों ने चुनाव जीतने पर व्यापारियों के हितों में काम करने का वायदा किया।

नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के अध्यक्ष पद के दावेदार संजय व्यास और महामंत्री पद के प्रत्याशी प्रतीक कालिया ने व्यापार मंडल के वरिष्ठ व्यापारियों के साथ जनसंपर्क अभियान भी शुरु कर दिया। दोनों प्रत्याशियों ने व्यापारियों से वोट व समर्थन मांगा। कहा कि वे हमेशा व्यापारियों के हितों के लिए संघर्षरत रहे हैं। भविष्य में भी व्यापारियों के हितों के लिए संघर्ष करेंगे। कहा कि यदि व्यापारियों ने उन्हे मौका दिया तो वे व्यापारियों की हर समस्या का समाधान करेंगे। जनसंपर्क अभियान में क्षेत्रीय पार्षद मनीष शर्मा, यशपाल पंवार, हितेंद्र पंवार, धीरज मखीजा, पंकज शर्मा, संजय परमार, मयंक अग्रवाल, रमेश अरोड़ा, अरविंद, संजय पवार, रवि अग्रवाल, पंकज चंद्रा, सुशील छाबड़ा, नीरज अग्रवाल, जितेंदर आनंद, सुमित चोपड़ा, जयंत जोशी, गोपाल सकती, राजीव कालिया, पंकज कालिया आदि मौजूद रहे।

लघु व्यापारियों ने दिया ललित मोहन और प्रदीप गुप्ता को समर्थन


नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चुनाव में आज अध्यक्ष पद पर ललित मोहन मिश्र और महामंत्री पर पर प्रदीप गुप्ता को लघु व्यापारियों ने समर्थन दिया। समथर््ान के दौरान लघु व्यापारी बोले, दोनों ही प्रत्याशी व्यापारियों के सारथी है। ऐसे सारथी हर व्यापारी को चाहिए।

दरअसल आज लघु व्यापारी व फुटकर फल एवं सब्जी विक्रेता समिति के अध्यक्ष राजू गुप्ता ने अपने 106 साथियों के साथ ललित मोहन और प्रदीप गुप्ता को समर्थन दिया। राजू गुप्ता ने कहा कि व्यापारियों के लिए सदैव तत्पर रहने वाले दोनों प्रत्याशी को अपना मत दे। हमारा शोषण कई बार प्रशासनिक और नगर निगम के द्वारा समय-समय पर किया गया है, मगर इस चुनावी मैदान में अन्य प्रत्याशियों का कभी लघु व्यापारियों को समर्थन नहीं दिया गया। उन्होंने चुनावी सिमर में सभी व्यापारी वर्ग से अपने विवेक का प्रयोग करते हुए दोनों प्रत्याशियों के समर्थन में मत देने की अपील की।

कहा कि नेता ऐसा चुने जो आम व्यापारी के लिए जिये। जिसे न देखा हो और जिसे बुलाने के लिए व्यापारी को संघर्ष करना पड़े, ऐसे नेता न चुने। वहीं, आज दोनो प्रत्याशी ने नगर भर के बुजुर्ग व्यापारियों का आशीर्वाद प्राप्त किया। बुजुर्ग व्यापारियों ने दोनों को व्यापारिक हितैसी बताया।

व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चुनाव को ललित मोहन मिश्र और प्रदीप गुप्ता ने तेज किया डोर टू डोर अभियान


नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चुनाव 10 अप्रैल को होने जा रहे है। इस बार पहली बार आम व्यापारी भी इस चुनाव में अपने मत का प्रयोग करेगा। इस व्यापारिक चुनावी मैदान में ललित मोहन मिश्र अध्यक्ष और प्रदीप गुप्ता महामंत्री पद पर अपनी किस्मत आजमा रहे है। दोनों की दावेदारों को नगर के व्यापारियों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। ऐसे व्यापारी भी दोनों प्रत्याशियों की जीत को अपनी जीत मान रहे हैं, जो प्रशासन के द्वारा किसी न किसी रूप में सताये जाते है।

आज दोनों प्रत्याशियों ने नगरभर में रैली आयोजित की। इसमें आम व्यापारियों ने भी हिस्सा लिया। व्यापारियों ने कहा कि दोनों प्रत्याशियों मिलनसार है और सबसे बड़ी बात प्रत्येक व्यक्ति के बुलावे पर हाजिर होने वाले है। ऐसे ही प्रत्याशियों को मैदान में उतरने का हक है। आम व्यापारियों ने खुले मन से कहा कि व्यापारिक नेता अगर हो तो ललित मोहन मिश्र और प्रदीप गुप्ता के जैसे है। बतादें कि इस वर्ष व्यापारिक चुनाव का माहौल एक आम चुनाव की तरह हो गया है। इसमें पूर्व महामंत्री ललित मोहन मिश्र और प्रदीप गुप्ता का पलड़ा भारी पड़ता दिख रहा है। वहीं, दोनों दावेदारों ने अपने पक्ष में मतदान की व्यापारियों से अपील की।

रैली में युवा व्यापारी पवन शर्मा, शैलेन्द्र बिष्ठ, पार्षद राकेश मिया, पूर्व पार्षद रवि जैन, राजेश अग्रवाल, दीपक बंसल, अजीत सिंह गोल्डी, नितिन गुप्ता, विजेंदर गौर, पंकज चावला, रजत भोला, ललित अग्रवाल, आशु डंग, आशु अरोरा, सुनील तिवारी, अजय ब्रेजा, विकास अग्रवाल, राजू गुप्ता, जगमीत सिंह, इंदरजीत सिंह, घनश्याम डंग, प्रमोद अरोरा, हेमंत सुनेजा, हरदेव पनेसर, अभिषेक शर्मा, रघु भटनागर, विनीत जैन, अमित सूरी, रोहन खुराना, जगदीश जोशी, दिनेश अरोरा, सरदार हरजीत सिंह, पवन अरोड़ा, जोगेंदर पाल, कपिल गुप्ता, नरेंद्र, अनुज जैन, योगेश गोयल, अशोक सिक्री, हेमंत सुनेजा, दीपेश कोहली, जगमोहन मिश्र, अनुराग वर्मा, अमित तुषार, अंकित कौशिक, राकेश बत्रा, अजय भारद्वाज, गजेन्द्र पाल, मित्र पाल, चंद्रिका त्रिपाठी, विनीत गुलाटी, हितेश सडाना, अंकित कालरा, बद्री शास्त्री, अवनीश गुप्ता, अमर गुप्ता आदि मौजूद थे।

व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चुनाव को संजय व्यास और प्रतीक कालिया ने शुरू किया डोर टू डोर अभियान

नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चुनाव में अध्यक्ष पद पर संजय व्यास और महामंत्री पर प्रतीक कालिया ने आज से अपना डोर टू डोर जनसंपर्क अभियान शुरू कर दिया है। त्रिवेणी घाट पर मां गंगा का दुग्धाभिषेक कर उन्होंने इस जनसंपर्क अभियान की शुरूआत की। इसमें व्यापारियों का भरपूर समर्थन मिला। बुजुर्ग व्यापारियों ने दोनों प्रत्याशियों को अपना आशीर्वाद दिया तो युवा व्यापारियों ने माला व पुष्पवर्षा कर उनका स्वागत किया।

नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल का चुनाव बेहद हाईटेक होता जा रहा। पोस्टर बैनर युद्ध के बाद अब चुनाव में शक्ति प्रदर्शन का दौर भी शुरू हो गया। इन सबके बीच निगम चुनाव की तर्ज पर व्यापार मंडल के चुनाव के सियासी घमासान में अध्यक्ष पद के प्रत्याशी संजय व्यास व महामंत्री पद के प्रत्याशी प्रतीक कालिया ने सर्मथकों की भीड़ जुटाकर चुनावी माहौल को पूरी तरह से गर्मा दिया है। दिलचस्प बात यह रही की शक्ति प्रदर्शन के जरिए चुनावी रणक्षेत्र में हुंकार भर रहे दोनों प्रत्याशियों के समर्थन मे नगर निगम में कई सारे पार्षद और भाजपा नेता भी जुटे।

ऐसे में चुनाव पर राजनीतिक रंग पूरी तरह से चड़ना अब तय हो गया है। जनसंपर्क करने वालों ने दोनों प्रत्याशियों के चुनाव के संयोजक जगमोहन सकलानी, पूर्व राज्यमंत्री सुरेंद्र मोघा, पूर्व राज्य मंत्री संदीप गुप्ता, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ज्योति सजवाण, दिनेश कोठारी, भाजपा मंडल अध्यक्ष दिनेश सती, पार्षद शिव कुमार गोतम, हरीश तिवाड़ी, प्रदीप कोहली, ऋषिकांत गुप्ता, विकास तेवतिया, राजू नरसिम्हा, राजेश दिवाकर, गोविंद अग्रवाल, नितिन गुप्ता, ललित मनचंदा, जितेंद्र अग्रवाल, निशांत मलिक, श्रवण जैन, धीरज मखीजा, मनोज कालड़ा, गोपाल सती, दीपक धमीजा, पंकज चंदनानी, कमल जैन, दीप सुनेजा, गिरीश छाबड़ा, कमल ढंग, प्रदीप दुबे, रमेश अरोड़ा, पंकज चावला आदि शामिल रहे।

प्रत्याशी सूरज गुल्हाटी व राजीव मोहन ने खुद को किया चुनाव से अलग

प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल से ऋषिकेश व्यापार महासंघ का कोई लेना देना नहीं है, ऋषिकेश का अपना खुद का महासंघ है, लिहाजा प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के नियम महासंघ में लागू नहीं होंगे। इसके अलावा 10 अप्रैल को होने जा रहे चुनाव का ऋषिकेश व्यापार महासंघ से कोई नाता नहीं है। यह बात आज प्रेसवार्ता में व्यापारी राजीव मोहन अग्रवाल ने कहीं।

नगर उद्योग ऋषिकेश व्यापार महासंघ को जिस व्यापारियों की एकता के उद्देश्य से बनाया गया था। लाख कोशिशों के बाद आज वह पुनः बिखर गया। प्रत्याशी के तौर पर अध्यक्ष पद पर सूरज गुल्हाटी व महामंत्री पद पर राजीव मोहन अग्रवाल ने आज प्रेसवार्ता की। इसमें ऋषिकेश व्यापार महासंघ को प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल से अलग बताया गया। प्रेसवार्ता में साफ तौर पर कहा गया कि मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल को महासंघ की 11 सदस्यीय कोर कमेटी में से छह सदस्यों ने हटाने का फैसला किया है। साथ ही महासंघ से उनकी सदस्यता को भी खत्म कर दिया गया है।

प्रेसवार्ता में जयेंद्र रमोला ने बताया कि महासंघ का अब सर्वसहमति से मुख्य चुनाव अधिकारी राजेंद्र सेठी को बनाया गया है। कोर कमेटी के छह सदस्यों ने इस पर अपनी हामी भरी है।
वहीं, राजेंद्र सेठी ने कहा कि जल्द ही महासंघ के चुनाव आयोजित होंगे। इसकी सूचना अलग से दी जाएगी। प्रेसवार्ता में दीपक जाटव, विनोद शर्मा, अजय गर्ग, यशपाल पंवार, ललित मोहन सक्सेना आदि उपस्थित रहे।

व्यापार महासंघः चुनाव से पूर्व मुख्य चुनाव अधिकारी को भेजा नोटिस

नगर उद्योग व्यापार महासंघ के चुनाव के पहले मुख्य चुनाव अधिकारी को उनके पद से हटाने की कवायद अब तेज हो चली है। चुनाव संचालन समिति ने मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल को नोटिस भेजा है, साथ ही संतुष्ट जवाब न मिलने पर बुधवार को उनके खिलाफ निलंबन की योजना तैयार कर ली गई है।

आज व्यापार महासंघ की संचालन समिति की बैठक संयोजक राजीव मोहन अग्रवाल की अध्यक्षता में की गई। इसमें चुनाव संचालन समिति सदस्य विनोद शर्मा ने कहा कि 27 फरवरी को जब ऋषिकेश व्यापार महासंघ व नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल का एकीकरण हुआ, तो स्पष्ट था कि इसमें बाहरी किसी भी संगठन व व्यापारी का हस्तक्षेप नहीं होगा। केवल महासंघ की संचालन समिति (कोर कमेटी) का ही हस्तक्षेप होगा।

उन्होंने मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि बाहरी व्यक्तियों को ऋषिकेश में बुलाकर चुनावी प्रक्रिया को बिगाड़ने का काम किया गया है। कहा कि महासंघ के सदस्य दीपक जाटव द्वारा लिखित शिकायत से जानकारी मिली कि मुख्य चुनाव अधिकारी ने तय समय के बाद बिना रशीद काटे सदस्यता फार्म जमा किय। आरोप को बरकरार रखते हुए कहा कि मुख्य चुनाव अधिकारी ने अपने पद का दुरुपयोग किया है।

महासंघ समिति सदस्य राजेन्द्र सेठी, विनोद शर्मा, राजेश भट्ट, नवल कपूर व जयेन्द्र रमोला ने कहा कि मुख्य चुनाव अधिकारी पर पद के दुरुपयोग के आरोप सही पाये गये हैं इसलिये उन्हें बुधवार सुबह 11 बजे तक का जवाब माँगा गया है। बैठक में कहा गया कि संतुष्ठात्मक जवाब न मिलने पर मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल के विरूद्ध निलम्बन की कार्यावाही की जायेगी।

बैठक के पश्चात संचालन विनोद शर्मा के नेतृत्व में सूरज गुल्हाटी, राजेन्द्र सेठी, राजीव मोहन अग्रवाल, जयेन्द्र रमोला, राजेश भट्ट व दीपक जाटव ने नरेश अग्रवाल को नोटिस उनके कार्यालय में जाकर सौंपा।

व्यापार महासंघ चुनाव को मुख्य चुनाव अधिकारी ने की प्रेसवार्ता

नगर उद्योग व्यापार महासंघ के चुनाव 10 अप्रैल को ही किए जाएंगे। प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल की सभी इकाईयों के चुनाव संपन्न हो चुके है। ऋषिकेश में इस बार मेन टू मेन चुनाव होने जा रहा है। 31 मार्च तक सभी फार्म की स्क्रीनिंग के बाद अंतिम वोटर लिस्ट जारी कर दी जाएगी। नाराज व्यापारियों को भी मनाया जाएगा। यह बात आज प्रेसवार्ता के दौरान व्यापार महासंघ के मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल ने कहीं।

घाट मार्ग स्थित एक होटल में आयोजित बैठक में पर्यवेक्षक दिनेश डोभाल ने कहा कि ऋषिकेश में व्यापारियों की एकता के लिए इस वर्ष से इसे ऋषिकेश व्यापार महासंघ का नाम दिया गया है। प्रांतीय उद्योग के अनुसार 10 अप्रैल की निश्चित चुनाव की तिथि को नहीं बदला जा सकता है, लिहाजा चुनाव उसी दिन संपन्न किए जाएंगे।

मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल ने बीते रोज हुए हंगामे को लेकर अपना स्पष्टीकरण दिया। कहा कि 26 मार्च तक का समय सदस्यता फार्म लेने का था। मगर, आरोप लगाने वाले लोग ने अपने आप ही इसका समय शाम सात बजे का निर्धारित कर दिया, जबकि ऐसा कुछ नहीं है। कहा कि सदस्यता फार्म सभी चुनाव समिति के सदस्यों की मौजूदगी में ही लिए गए। यदि किसी को आपत्ति होती, तो उसी समय हो जाती। इसके बावजूद मुझ पर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया जा रहा है, जबकि ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि आरोपियों ने मुझ पर एजेंट, मुंशीगिरी करने, गूंडे और बदमाश तक कह डाला। इतना ही नहीं, दुव्र्यहार तक किया गया।

उन्होंने प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि जो लोग पेन ड्राइव में सदस्यता फार्म देने का दावा कर रहे है, उसमें दरअसल व्यापारी की न तो फर्म का जिक्र किया गया है और न ही जीएसटी नंबर है। इतना ही नहीं उस व्यापारी की फोटो तक उपलब्ध नहीं है। इसके अलावा कोई शुल्क और उसकी रसीद तक नहीं दी गई। उन्होंने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि जिन फार्म को यह बताया जा रहा है कि उनके वोटर लिस्ट में शामिल कर दिया है, गलत है। मैंने कोई फार्म अभी फाइनल नहीं कर दिए है। सभी की जांच के बाद 31 मार्च तक स्क्रीनिंग के उपरांत अंतिम वोटर सूची जारी कर दी जाएगी।

उप चुनाव अधिकारी को नहीं दी बैठक की सूचना
व्यापार महासंघ में दो उपचुनाव अधिकारी राजेंद्र सेठी और विनोद शर्मा के प्रेसवार्ता में उपस्थित न होने का कारण जब मुख्य चुनाव अधिकारी से पूछा गया। तो उन्होंने कहा कि उन्हें बैठक की सूचना नहीं दी गई है।

इस दौरान हरगोपाल अग्रवाल, सुभाष कोहली, सुनील अग्रवाल, दीपक तायल, ललित मोहन मिश्र, प्रदीप गुप्ता, पवन शर्मा आदि उपस्थित रहे।

मुख्य चुनाव अधिकारी पर दो उम्मीदवारों ने लगाया फर्जी वोटर बनाने का आरोप

नगर उद्योग व्यापार महासंघ के चुनाव को लेकर आज दो उम्मीदवारों (अध्यक्ष पद सूरज गुल्हाटी व महामंत्री राजीव मोहन अग्रवाल) ने प्रेसवार्ता की। उन्होंने मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल पर अन्य विपक्षी चार उम्मीदवारों के एजेंट होने का गंभीर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मुख्य चुनाव अधिकारी अन्य चार उम्मीदवारों के एजेंट के तौर पर काम कर रहे है, उनके लिए फर्जी वोटरों को भी तैयार किया जा रहा है। वहीं, नरेश अग्रवाल ने भी बचाव में सभी आरोपों को गलत बताकर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

हरिद्वार मार्ग स्थित एक होटल में प्रेसवार्ता में महामंत्री प्रत्याशी राजीव मोहन अग्रवाल ने कहा कि महासंघ की सदस्यता तक समय के बजाए गुपचुप तरीके से की जा रही हे, साथ ही सदस्यता शुल्क भी नहीं लिया गया। उनकी ओर से जब आपत्ति की गई तो मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा उनके साथ दुव्र्यवहार किया गया। उन्होंने एजेंट होने का आरोप तक लगा डाला। साथ ही विपक्षी उम्मीदवारों की मुंशीगिरी करने का भी आरोप जड़ा। उन्होंने मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल को बदलने की मांग की। साथ ही वोटर लिस्ट जारी न होने तक चुनाव बहिष्कार की बात कहीं है।
जयेंद्र रमोला ने प्रेसवार्ता के दौरान प्रश्न किया कि क्या रात के दस बजे भी सदस्यता फार्म भरे जा सकते है, जबकि तय समय शाम सात बजे तक का ही निर्धारित हो। कहा कि रात के दौरान सदस्यता फार्म 400 थे, जबकि आज सुबह यह बढ़कर 1200 हो गए। रातों रात 800 फार्म की संख्या किस तरह बढ़ गई। उन्होंने सदस्यता शुल्क की रसीद का भी मामला उठाया। कहा कि नरेश अग्रवाल की ओर से यह कहा जाना कि सदस्यता फार्म का शुल्क की रसीद वह स्वयं काटेंगे, उनके आरोपों को सिद्ध करता है।

दीपक जाटव ने कहा कि बीते रोज लिखित में मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल को शिकायत की गई। मगर, कोई वाजिब जवाब नहीं मिला। आज तक उनके कार्यालय पर जवाब जानने पहुंचे तो मौके पर कुछ फार्म ऐसे मिले, जिनका आॅनलाइन जीएसटी नंबर जांचने पर गलत पाया गया। उन्होंने चुनाव बहिष्कार की बात कही।

इस मौके पर अध्यक्ष प्रत्याशी सूरज गुल्हाटी, ललित सक्सेना, अजय गर्ग, हितेंद्र पंवार, यशपार पंवार, राजेंद्र सेठी, अंशुल अरोड़ा आदि उपस्थित रहे।

उधर, अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल ने कहा कि सभी आरोप बेबुनियाद है। दरअसल, चार दिन पूर्व ही सदस्यता बढ़ाने की तिथि तय की गई थी। इसमें जो लोग आरोप लगा रहे है, उन्होंने सदस्यता फार्म की सूची पेन ड्राइव में दी है, जबकि जो मौजूदा फार्म में सभी जानकारी स्पष्ट दी गई है। उन्होंने कहा कि जो भी फार्म स्वीकार किए गए है, वह सभी चुनाव समिति के सदस्यों की मौजूदगी में लिए गए हैं, कहा कि इन वोटर लिस्ट की सूची की जांच के बाद अंतिम वोटर लिस्ट जारी की जाएगी। चुनाव तय समय पर किए जाएंगे।

व्यापार महासंघ चुनाव के लिए सूरज गुल्हाटी व राजीव मोहन ने व्यापारियों को किया संबोधित

नगर उद्योग व्यापार महासंघ चुनाव को लेकर आज हरिद्वार मार्ग स्थित एक होटल में व्यापारियों की वृहत स्तर पर बैठक। चुनाव में अध्यक्ष पद पर अपनी किस्मत आजमा रहेे सूरज गुल्हाटी व महामंत्री पद की दावेदारी कर रहे राजीव मोहन अग्रवाल के नामों व्यापारियों ने सहमति दी।

वरिष्ठ व्यापारी हेमकुंड अरोड़ा की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में अध्यक्ष प्रत्याशी सूरज गुल्हाटी ने कहा कि उनका चुनाव पर उतरने का मन नहीं था। मगर, व्यापार संगठन के नेताओं के स्वार्थी पूर्ण रवैये को चलते और व्यापारियों के हितों की रक्षा को लेकर मैंने चुनावी रण में उतरने का मन बनाया। व्यापारियों को उन्होंने भरोसा दिलाते हुए कहा कि चुनाव जीतकर आने पर वह व्यापारियों के हितों की रक्षा के साथ ही ऋषिकेश को ऐतिहासिक व्यापार महासंघ बनाया जाएगा।

महामंत्री पद के दावेदार राजीव मोहन अग्रवाल ने कहा कि जब हमने ऋषिकेश नगर के व्यापार संगठनों को एक कर मजबूत व्यापार का गठन करने का प्रयास किया। जिस प्रयास के फलीभूत आज व्यापार महासंघ के चुनाव में हर दुकानदार को वोट देने का अधिकार प्राप्त हुआ और आज तक जो व्यापारी नेता अधिकारियों की चाटुकारिता कर अपनी नेता गिरी को चलाने का काम कर रहे थे। उनको आज पता चला कि जब व्यापारी एक होता है तो वह कुछ भी कर सकता है।

जयेन्द्र रमोला व दीपक जाटव के संचालन में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व पालिका अध्यक्ष वीरेन्द्र शर्मा, हितेन्द्र पंवार, नवनीत अरोड़ा, हरदेव पनेसर, कपिल आनन्द, नवल कपूर, वरिष्ठ नागरिक कल्याण संगठन के एसपी अग्रवाल, बाबू राम अग्रवाल, ब्रह्म कुमार शर्मा, अजय गोयल, आई डी जोशी, पीडी अग्रवाल, राजरुमार तलवार, प्रेम चंदानी, लोकेश मखीजा, प्रकाश शर्मा, मनोज कालडा, अमरीक सिंह, राजकुमार तलवार, अजय गर्ग, मनोज कालडा, मधुसूदन शर्मा, जय राजेन्द्र गौड, संजय अग्रवाल, ज्योति शर्मा, विजय अग्रवाल, दीपक कोहली, राजू बक्का, पवन अरोड़ा, सचिन अग्रवाल, राजेश भट्ट, मदन नागपाल, राजीव पाहवा, अंशुल अरोड़ा, मोहन लाल अरोड़ा , यशपाल पंवार, संजय पंवार, पार्षद अजीत सिंह, पार्षद विजय बडो़नी, प्रवीन अग्रवाल, मनस्वी तलवार, विवेक वर्मा, प्रेम चंदानी, सरदार बूटा सिंह, रमनप्रीत सिंह, राजेश अरोड़ा, अखिलेश मित्तल, सुनील तिवाड़ी, सुनील उनियाल, गौरव अग्रवाल आदि सैकड़ों व्यापारी मौजूद रहे।